• Hindi News
  • Insurers Getting It Wrong Could Not Sell Signature Policy

हस्ताक्षर करवाकर गलत पॉलिसी नहीं बेच सकती बीमा कंपनियां

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल. बीमा पॉलिसी के दस्तावेज में ग्राहक के हस्ताक्षरों का यह मतलब नहीं है कि वह सभी नियम और शर्तों से पूरी तरह अवगत है। इस आधार पर उसे कोई भी अव्यवहारिक बीमा उत्पाद नहीं बेचा जा सकता। बीमा पॉलिसी लेने वाले की आय और उसकी प्रीमियम चुकाने की क्षमता का भी ध्यान रखना चाहिए। बीमा लोकपाल आरके श्रीवास्तव ने इस आधार पर बीमा कंपनी बजाज आलियांज को निर्देश दिए हैं कि वह सात साल पहले 15 लोगों को बेची गई पॉलिसी रद्द करके उनसे लिया गया फस्र्ट प्रीमियम लौटा दे।
बीमा कंपनी के एजेंट ने इन 15 लोगों को फिक्स डिपॉजिट प्रॉडक्ट की जगह सालाना 35-50 हजार रुपए प्रीमियम वाला लाइफ कवर प्रॉडक्ट बेच दिया। नियमानुसार व्यक्ति कि आय की तुलना में उसकी सभी मदों में दी जाने वाली किश्त 50 फीसदी से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
इसमें घर, कार और कृषि ऋण में दी जाने वाली किश्त को भी प्रीमियम में जोड़ा जाता है। इतना ही नहीं इन्हें पॉलिसियां रजिस्टर्ड डाक के बजाय कुरियर से भेजी गईं। नतीजतन इन्हें पॉलिसी 15 दिन का फ्री लुक पीरियड बीत जाने के बाद मिली। उल्लेखनीय है कि बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण की गाइडलाइन के तहत पॉलिसी जारी होने के 15 दिन के भीतर अगर ग्राहक को लगता है कि उन्हें गलत पॉलिसी दी है तो वह उसे बदलवा सकते हैं।
बीमा लोकपाल ने इन सभी बातों को ध्यान में रखकर कंपनी से तत्काल फस्र्ट प्रीमियम राशि लौटाने को कहा था। अब कंपनी भी लिए गए प्रीमियम को लौटाने को तैयार हो गई है।
एक ही परिवार में बेची 5 पॉलिसी
बीमा एजेंट की बातों में आकर कई लोगों ने एक ही नाम पर 4-5 पॉलिसी ले ली थी। जिनका सालाना प्रीमियम 2 से तीन लाख रुपए तक था।
हमने घर बेचकर खरीदी थी पॉलिसी
हमारी नाममात्र की खेती है। 2007 में एक बीमा एजेंट हमारे गांव आया। उसने हमसे कहा कि आप 50 हजार रुपए की एफडी करा लो। यह पैसा बैंक में रहेगा। तीन साल में दोगुना हो जाएगा। पैसे देने के एक साल बाद हमें पता चला कि यह एक बीमा पॉलिसी थी। इसमें हर साल पैसा जमा कराना था। अब हमें जल्द ही पैसे मिलने की उम्मीद है।
मुन्नी बाई यादव, लखनादौन, जिला सिवनी
(इरडा)
इन मामलों में करें शिकायत
:बीमा कंपनी पूर्ण या आंशिक क्लेम देने से मना कर दे।
:पॉलिसी के नियम और शर्तों के आधार पर बीमा प्रीमियम को लेकर विवाद हो।
:पॉलिसी में क्लेम के नियम और कानून को लेकर विवाद हो।
:क्लेम के भुगतान में विलंब हो।
यहां भेजें आवेदन
राजकुमार श्रीवास्तव, बीमा लोकपाल (मप्र और छग)
पता : जनक विहार कॉम्प्लेक्स
द्वितीय तल, 6 मालवीय नगर,
भोपाल- 462011. फोन नंबर: 0755-2769200/201/202.
ईमेल : bimalokpalbhopal@gmail.com