• Hindi News
  • Martyr Sudhakar Singh Clay Reches Home, Last Rites Today

बॉर्डर पर शहीद हुआ एमपी का जांबाज़, CM की उपस्थिती में आज होगा अंतिम संस्कार

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सीधी।

सीधी जिले के डढिय़ा गांव में मातमी सन्नाटा है। गांव के सपूत लांस नायक सुधाकर सिंह की शहादत पर गर्व तो है लेकिन गम भी है। सुधाकर के पिता सच्चिदानंद सिंह को बेटे की शहादत की खबर बुधवार को मिली। शहीद का पार्थिव शरीर देर रात जबलपुर पहुंचा। सड़क के रास्ते देर रात गांव पहुंचाया गया। बिलखते पिता ने कहा- सुधाकर अक्सर कहा करता था कि मरूंगा तो देश के लिए। उसने जो कहा था वो कर दिखाया। शहीद का अंतिम संस्कार गुरुवार को होगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी गांव आ रहे हैं। सुधाकर के दादा और ससुर भी फौज में ही थे। सुधाकर २००२ में १३ राजपूताना राइफल्स में बतौर जवान भर्ती हुए थे। तीन साल पहले सुधाकर की दुर्गा सिंह से शादी हुई थी। चार माह पहले वे पिता बने थे।