पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • The Niece Of A Young Man Jumped Pulpukta

सात साल की मासूम को लेकर घुमाने निकला चाचा, लेकिन...

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल। सात साल की मासूम भतीजी को लेकर एक युवक ने पुलपुख्ता से छलांग लगा दी। गोताखोर बच्ची को बचाने में तो कामयाब रहे, लेकिन उसके चाचा की दलदल में फंसने से मौत हो गई। बच्ची को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया। इलाज के बाद उसे परिजन घर ले गए। कुछ दिनों से उसके चाचा की मानसिक हालत ठीक नहीं थी।
भोईपुरा, बुधवारा में रहने वाले 30 वर्षीय मोहम्मद उमर रविवार सुबह करीब 11 बजे अपने काम पर चले गए थे। इस दौरान उनके 27 वर्षीय छोटे भाई मोहम्मद असलम उनकी बेटी अल्फीशा को घुमाने के बहाने घर से ले गया। उमर के मुताबिक दोपहर करीब ढाई बजे उन्हें फोन के जरिए पता चला कि असलम और अल्फीशा पुलपुख्ता चादर (छोटे तालाब के आउटलेट में) में गिरकर नीचे पानी के कुंड में पहुंच गए, जब वह पुलपुख्ता चादर पर पहुंचे तो गोताखोर ओमप्रकाश, इमरान और लईक ने अल्फीशा को बचा लिया था।
तलैया पुलिस ने बताया कि असलम ने अल्फीशा को कंधे पर बिठाकर पुलपुख्ता चादर के ऊपर छलांग लगा दी थी। गोताखोरों को असलम की लाश पानी में मिली। उमर के बहनोई शाहिद अली ने बताया कि असलम की बीते 20 दिनों से मानसिक हालत ठीक नहीं थी। दो फरवरी को उसकी बहन की सीहोर में संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। इसके बाद से वह परेशान था।
हालांकि, बच्ची को साथ लेकर पुलपुख्ता की चादर पर छलांग लगाने की उसकी हरकत से पूरा परिवार हैरान है।
सहम गई अल्फीशा
उमर के भांजे मोहम्मद अंसार के मुताबिक हादसे से अल्फीशा सहम गई है। उसके सिर व पैर में गंभीर चोटें आई हैं। डॉक्टरों को उसके फेफड़ों में भरा पानी निकालने में मशक्कत करनी पड़ी।