पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

यह तो गई थी 'भगवान' समझकर, डॉक्टरों ने कर दी कारस्तानी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल। एक निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने ऑपरेशन के दौरान महिला के पेट में गॉस पीस (कॉटन का टुकड़ा) छोड़ दिया। इससे हुए संक्रमण से महिला की मौत हो गई। इसका पता तब लगा जब महीने भर बाद महिला की तबीयत बिगड़ने पर एक अन्य अस्पताल में दोबारा ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन करने वाले डॉक्टरों ने बताया कि गॉस पीस के कारण आंतों में बहुत ज्यादा संक्रमण हो गया था, इसीलिए महिला की जान नहीं बच सकी। गुस्साए परिजन ने पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कर दोषी डॉक्टरों पर कार्रवाई की मांग की है। विदिशा के शमशाबाद के पाली गांव में रहने वाले नीलेश धाकड़ ने बताया कि पेट में तकलीफ के चलते उन्होंने अपनी मां लीलाबाई को 2 जून को बैरागढ़ के राजदीप अस्पताल में भर्ती कराया था। इस दौरान डॉक्टरों ने उनका बच्चेदानी का ऑपरेशन किया। 29 जून को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई, लेकिन घर पहुंचने पर उनकी हालत बिगड़ गई। उनके पेट में तेज दर्द शुरू हो गया। उन्हें दोबारा राजदीप अस्पताल लेकर आए, लेकिन यहां इलाज से संतुष्ट न होने पर 30 जून को चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया। यहां 13 जुलाई को डॉक्टरों ने उनका दोबारा ऑपरेशन किया। इसके बाद उनकी मौत हो गई। मृतका के परिजन की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। परिजन का आरोप : आंत के ऊपर था कॉटन चिरायु अस्पताल के संचालक डॉ. अजय गोयनका ने बताया कि शुक्रवार रात जब लीलाबाई का ऑपरेशन किया गया तो आंतों के ऊपर कॉटन (गॉस पीस) मिला। इसकी वजह से आंतों में छेद हो गया था और इसी वजह से उन्हें नहीं बचाया जा सका। अस्पताल प्रशासन का जवाब नहीं पता, कैसे आया ऑपरेशन के बाद 25 जून को लीलाबाई का सीटी स्कैन कराया था। अगर कपड़ा या कोई भी वस्तु शरीर के अंदर होती तो सीटी स्कैन में इसका पता चल जाता, लेकिन सीटी स्कैन की रिपोर्ट में ऐसी कोई बात सामने नहीं आई। ऐसे में हम यह नहीं कह सकते कि यह कॉटन पेट में कैसे आया? -डॉ. राजेश वलेचा, डायरेक्टर, राजदीप हॉस्पिटल

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

और पढ़ें