पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • देवगुरु बृहस्पति चार माह तक रहेंगे वक्री

देवगुरु बृहस्पति चार माह तक रहेंगे वक्री

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
देवगुरु बृहस्पति अपनी चाल बदलकर चार माह तक गुरु ग्रह कन्या राशि में रहकर वक्री रहेंगे। गुरु 9 जून को शाम 7.35 बजे मार्गी होंगे। वहीं सूर्यदेव 12 फरवरी से अपना स्थान परिवर्तित करेंगे। सूर्य रात 8.39 बजे कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे। सूर्य 14 मार्च शाम 5.33 बजे तक कुंभ राशि में ही रहेंगे। गुरु के वक्री होने तक जातकों के लिए राशि के मुताबिक आगामी समय उत्तम और सर्वश्रेष्ठ रहेगा। वहीं शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव के साथ प्राकृतिक आपदा की संभावना रहेगी। अर्थव्यवस्था के लिए समय उत्तम रहेगा। बाजार में व्यापार का स्तर बढ़ेगा। दोनों ग्रहों की चाल बदलने का प्रभाव लोगों पर अच्छा रहेगा।

वक्री ग्रह तेजी से करता है असर
ज्योतिषाचार्य डॉ. पं. सुनील शर्मा के मुताबिक ग्रह के वक्री होने का मतलब उसका पृथ्वी के पास अाना है। उसके नजदीक आते ही ग्रह का प्रभाव तेजी से पड़ता है। गुरु के वक्री होने का प्रभाव जातकों पर तेजी से देखने को मिलेगा। शिक्षा के क्षेत्र में छात्रों को शुभ समाचार मिलेंगे। रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

सूर्य जमीन कारोबार व बिल्डर्स के लिए शुभ

सूर्य कुंभ राशि में आकर केतु से युति बनाएंगे। जो जमीन कारोबार व बिल्डर्स के लिए शुभ हो सकता है। साथ ही कारोबारी को राहत मिलने की भी संभावना है।

राशियों का जातकों पर प्रभाव
मेष: समय अनुकूल रहेगा, धन आवक बढ़ेगी। वृष: मान बढ़ेगा, मानसिक परेशानी हो सकती है। मिथुन: धार्मिक यात्रा की संभावना है, शुभ खर्चे होंगे, राहत मिलेगी। कर्क: अच्छे अवसर आएंगे, अचानक लाभ मिलेगा। सिंह: जिंदगी में उतार चढ़ाव बंद होंगे, उत्तम लाभ मिलेगा। कन्या: कष्टों के प्रति सावधान रहें, धार्मिक मामलों में सक्रिय रहेंगे। तुला: धनलाभ होगा, कष्टों से निजात मिलेगी, बिगड़े काम होंगे। वृश्चिक: सुखद समाचार मिलेगा, सतर्क होकर काम करें, अच्छे परिणाम मिलेंगे। धनु: जमीन, मकान में निवेश करें कार्य सिद्ध होंगे, रोग से मुक्ति मिलेगी। मकर: रोजगार के नए अवसर मिलेंगे। कुंभ: लापरवाही से नुकसान हो सकता है, सावधानी रखे। मीन: धनलाभ होगा, पुरानी परेशानी समाप्त होगी, पारिवारिक सुख मिलेगा।

खबरें और भी हैं...