पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सब्जेक्ट के आधार पर रिवीजन

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) स्कूलों में 12वीं बोर्ड एक्जाम के लिए रिवीजन क्लास शुरू हो चुकी हैं। इस वर्ष कक्षा 12वीं के एक्जाम मार्च के दूसरे सप्ताह में शुरू होंगे। ग्वालियर सहोदया अध्यक्ष राजेश्वरी सावंत का कहना है कि एक्जाम में देरी की वजह से स्टूडेंट्स में तनाव कम है। साथ ही उन्हें रिवीजन के लिए बेहतर समय मिला है। यही वजह है कि फरवरी के पहले सप्ताह में स्टूडेंट्स रिवीजन क्लास में कमजोर टॉपिक को आसानी से हल करने के तरीके सीख रहे हैं। साथ ही स्कोरिंग टॉपिक में आंसर लिखने की प्रैक्टिस भी स्टूडेंट्स काे कराई जा रही है। जिससे सीबीएसई स्कूलों के स्टूडेंट्स फाइनल एक्जाम में बेहतर परफॉर्म करें। साथ ही स्कूल के रिजल्ट में भी पिछले वर्ष की तुलना में सुधार हो। इसके लिए एक्सपर्ट स्टूडेंट्स को गाइड कर रहे हैं। साथ ही उनके सवालों का जवाब भी दिया जा रहा है।

school update

9वीं और 10वीं के लिए प्री-एक्जाम
शहर के सीबीएसई स्कूल 9वीं अौर 10वीं क्लास का रिजल्ट बेहतर बनाने के लिए प्री-एक्जाम करा रहे हैं। जिससे फाइनल एक्जाम में स्टूडेंट्स बेहतर स्कोर कर सकें। साथ ही प्री-एक्जाम में स्टूडेंट्स अपनी वर्ष भर की तैयारी का आकलन भी आसानी से कर पाएंगे। फाइनल एक्जाम में कमजोर टॉपिक पर अभी भी टीचर की गाइडेंस में बेहतर तैयारी की जा सकेगी।

डाउट्स के लिए ग्रुप डिस्कशन
रिवीजन क्लास में स्टूडेंट्स के डाउट्स को ग्रुप डिस्कशन के साथ भी सॉल्व किया जा रहा है। जिसमें 5 से 6 स्टूडेंट्स का ग्रुप शामिल रहता है। इससे स्टूडेंट्स की एक्सप्रेशन स्किल भी डवलप होती है। डाउट्स क्लियर होने पर स्टूडेंट्स इसे टीचर के साथ शेयर करते हैं। इसका फायदा उन्हें एक्जाम में मिलेगा।

बोर्ड एक्जाम: क्लास में कमजोर टॉपिक का रिवीजन शुरू
मैथ्स फॉर्मूला याद कराने के लिए प्रैक्टिस पर फोकस।

साइंस सब्जेक्ट के लिए पीपीटी प्रजेंटेशन की मदद।

कॉमर्स के लिए रियल वर्ल्ड की प्रॉब्लम को टीचर्स क्लासरूम में डिस्कस कर रहें हैं।

सीबीएसई की ओर से जारी किए गए सेंपल पेपर्स को भी क्लासरूम में सॉल्व कराया जा रहा है।

थ्योरी सब्जेक्ट के लिए क्लासरूम में रीडिंग स्किल पर फोकस किया जा रहा है।

स्टूडेंट्स को रिवीजन करने के तरीके बताए जा रहे हैं। फोटो: भास्कर

खबरें और भी हैं...