पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • एक दिन छोड़ पानी सप्लाई पर नहीं बनी सहमति, निगम ने सीई को लिखा पत्र

एक दिन छोड़ पानी सप्लाई पर नहीं बनी सहमति, निगम ने सीई को लिखा पत्र

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अफसर बोले- हमारे पास 953 एमसीएफटी पानी
नगर निगम द्वारा शहर में एक दिन छोड़कर पानी सप्लाई के प्रस्ताव पर जल संसाधन विभाग ने सहमति नहीं दी है। जवाब में विभाग ने लिखा कि हाईकोर्ट में 31 जुलाई तक नियमित सप्लाई का शपथपत्र दिया था। वर्तमान में तिघरा डैम में 953 एमसीएफटी पानी उपलब्ध है।

जल संसाधन विभाग के एक अफसर ने बताया कि वर्तमान में 9 एमसीएफटी से अधिक पानी लिया जा रहा है। इसमें से लगभग 4 एमसीएफटी पानी का लॉस हो जाता है। इस हिसाब से उपलब्ध पानी से 31 अगस्त तक फुल फ्लो से नियमित पानी दिया जा सकता है। 31 अगस्त के बाद भी पानी सप्लाई किया जा सकता है लेकिन फिर पानी का प्रेशर कम होता जाएगा। एक दिन छोड़कर पानी देने से अक्टूबर अंत तक पानी सप्लाई किया जा सकेगा।

पत्र का जवाब नहीं आया
1 दिन छोड़कर पेयजल सप्लाई पर सीई को हमने अलग से पत्र लिखा है। पत्र का जबाव मिलने पर वरिष्ठ अधिकारियों व एमआईसी को अवगत कराया जाएगा। -आरएलएस मौर्य, अधीक्षण यंत्री, पीएचई

हमने स्थिति बता दी है
निगम की नोटशीट पर हमने अपनी स्थिति स्पष्ट की है कि पूर्व में 31 जुलाई तक नियमित सप्लाई का पत्र हमने कोर्ट को दिया था। -एके गुप्ता, अधीक्षण यंत्री जल संसाधन

परिषद में होगी चर्चा: यदि सीई का भी जबाव ऐसा ही रहता है तो एक दिन छोड़कर पानी सप्लाई के प्रस्ताव को निगम आयुक्त, महापौर व एमआईसी को भेजेंगे। पेयजल सप्लाई का मामला हाईकोर्ट में विचाराधीन है इसलिए संभवत: एमआईसी भी इस मामले पर निर्णय लेने से बचेगी और फिर पेयजल सप्लाई के मुद्दे पर परिषद में चर्चा की जाएगी। परिषद में चर्चा के बाद निर्णय संभव है।

सीई से मांगी राय: नगर निगम ने जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता एनपी कोरी को भी एक अलग पत्र लिख कर पेयजल आपूर्ति को लेकर पत्र लिखकर राय मांगी है। यह पत्र एक दिन पूर्व लिखा गया है। नगर निगम कोर्ट में एक दिन छोड़कर पेयजल आपूर्ति का आवेदन लगाने के मामले में जल संसाधन विभाग की सहमति का उपयोग करना चाहता है।

खबरें और भी हैं...