• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • जेयू के शिक्षकों को भत्ता जल्द मिलेगा, सुरक्षा भी

जेयू के शिक्षकों को भत्ता जल्द मिलेगा, सुरक्षा भी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जेयू के परीक्षा भवन में तैनात शिक्षकों की सोमवार को रजिस्ट्रार प्रो. आनंद मिश्रा के साथ बैठक हुई। इसमें परीक्षा भवन पर 5 सुरक्षाकर्मी तैनात करने, शिक्षकों के भत्ते के 9 लाख भुगतान की प्रक्रिया शुरू करने तथा रोटेशन कर दो महीने में परीक्षा भवन में नई टीम तैनात करने का निर्णय हुआ।

जेयू के परीक्षा भवन में 4 दिन पहले केंद्राध्यक्ष प्रो. डीसी गुप्ता के साथ छात्रों ने अभद्रता की थी। इससे पहले बाइक, मोबाइल व कॉपी चोरी की घटनाएं भी हो चुकी हैं। यहां पर शिक्षकों की भी कमी है इसी कारण रिसर्च स्कॉलर से ड्यूटी कराई जा रही है पर उन्हें भत्ता नहीं मिला। इन समस्याओं से परेशान शिक्षकों ने जेयू प्रबंधन से कह दिया था कि सुरक्षा व्यवस्था के बिना वह परीक्षाएं कराने में असमर्थ हैं। प्रो. एसके द्विवेदी ने पारिवारिक समस्याओं की वजह से यहां पर काम करने में असमर्थता जताई थी। रजिस्ट्रार प्रो. आनंद मिश्रा ने बैठक में शिक्षकों को आश्वासन दिया कि मंगलवार से सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए जाएंगे। परीक्षा में लगे शिक्षकों के भत्ते के 9 लाख रुपए भी एक-दो दिन में रिलीज कर दिए जाएंगे।

परीक्षा भवन पर तैनात शिक्षकों की समस्याएं सुनी थीं, उनका निदान किया गया है। सुरक्षा के लिए 5 जवान तैनात किए जा रहे हैं इसके साथ ही भत्ता का भुगतान भी किया जा रहा है। प्रो. आनंद मिश्रा ,रजिस्ट्रार, जेयू

पूर्व ईसी मेंबर ने पूछा-शिक्षक भर्ती में दिव्यांगों को आरक्षण क्यों नहीं
ग्वालियर| जेयू में हुई शिक्षकों की भर्ती में दिव्यांगों को आरक्षण क्यों नहीं दिया गया? यह आरक्षण नियमों का उल्लंघन है। ऐसा क्यों किया,यह तत्काल प्रभाव से बताया जाए। कार्यपरिषद के पूर्व सदस्य राजेंद्र सिंह यादव ने वीसी को पत्र लिखकर यह पूछा है। उन्होंने चेतावनी भी दी है कि आरक्षण प्रक्रिया को स्पष्ट किए बिना अगर यूनिवर्सिटी भर्ती प्रक्रिया शुरू करता है तो वह न्यायालयीन प्रक्रिया अपनाएंगे। श्री यादव ने भर्ती प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए लिखा है कि जेयू ने शिक्षकों की भर्ती का जो विज्ञापन निकाला है उसमें आरक्षण कानून का उल्लंघन किया गया है। सरकार द्वारा दिव्यांग वर्ग के लिए 6% आरक्षण किया गया है लेकिन जेयू के विज्ञापन में इस आरक्षण का उल्लेख नहीं है। इसलिए उन्हें बताया जाए कि दिव्यांग आरक्षण की स्थिति क्या है। दिव्यांग का बीते वर्षों का कितना बैकलॉग है।

खबरें और भी हैं...