• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • समस्याएं जानने 11 बजे पहुंचने वाले थे प्रभारी मंत्री, नेताओं के यहां समय बिताकर 4.30 बजे पहुंचे मंडी,

समस्याएं जानने 11 बजे पहुंचने वाले थे प्रभारी मंत्री, नेताओं के यहां समय बिताकर 4.30 बजे पहुंचे मंडी, नहीं मिले किसान

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पॉलिटिकल रिपोर्टर | ग्वालियर

किसानों की समस्याएं सुनने और मंडियों की हकीकत जानने के लिए औचक निरीक्षण पर सुबह 11 बजे जाने वाले प्रभारी मंत्री गौरीशंकर बिसेन शाम को 4.30 बजे के बाद मंडियों में पहुंचे। उन्हें यह देर पार्टी नेताओं के यहां मेहमाननवाजी के कारण हुई। दरअसल, श्री बिसेन ने राजा मानसिंह तोमर विवि में आयोजित हरियाली महोत्सव कार्यक्रम में अफसरों से कहा था कि यहां से सीधे मंडियों का निरीक्षण करने चलना है। उसके बाद वे कार्यक्रम से करीब 12 बजे फ्री हुए। लेकिन फिर विवि में चाय-नाश्ता आदि में करीब आधा घंटा बीत गया। इसके बाद वे नगरीय प्रशासन मंत्री माया सिंह के घर गए और वहां उनसे चर्चा करने के बाद विधायक नारायण सिंह कुशवाह, महेश खत्री और मनमोहन पाठक के यहां शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे। इसके बाद श्री बिसेन भाजपा के प्रदेश सह संगठन मंत्री अतुल राय के यहां उनके माता-पिता से मिलने गए।

मंत्री श्रीमती सिंह और श्री राय के घर प्रभारी मंत्री ने करीब डेढ़ से दो घंटे का समय बिताया। फिर करीब 4.30 बजे वे माया सिंह के साथ दीनारपुर और लक्ष्मीगंज मंडी निरीक्षण करने पहुंचे, लेकिन तब तक मंडियों में कोई किसान नहीं था और व्यापारियों से बातचीत कर मंत्री का काफिला लौट आया।

मंडी परिसर में व्यापारियों को मिलेगी सुरक्षा

लक्ष्मीगंज अनाज मंडी को 6 करोड़ रुपए की लागत से आधुनिक सुविधाओं और तकनीक से युक्त बनाया जा रहा है। साथ ही मंडी परिसरों में व्यापारियों को पूर्ण सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए शहर की लक्ष्मीगंज और दीनारपुर अनाज मंडियों के चारों ओर बाउंड्रीवॉल का निर्माण कर उसके ऊपर कंटीले तार लगाए जाएंगे। सभी मंडियों को हाईटेक करने का काम भी सरकार द्वारा किया जा रहा है। मप्र के कृषि और जिले के प्रभारी मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने शुक्रवार को मंडियों का निरीक्षण करते हुए अफसरों को समस्याएं खत्म करने के निर्देश दिए। दीनारपुर में व्यापारियों द्वारा बताया गया कि मंडी परिसर में गल्ला चोरी की घटनाएं आए दिन होती हैं। साथ ही व्यापारियों को मंडी परिसर में उपलब्ध कराए जाने वाले भूखंड अभी तक नहीं मिले हैं। श्री बिसेन ने व्यापारियों के साथ बनाए गए शेडों और उन्हें उपलब्ध कराए जाने वाले भूखंड स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने मंडी प्रांगण का सीमांकन कराने और चारों ओर बाउंड्रीवॉल का निर्माण कर उसके ऊपर कंटीले तार लगाने के निर्देश कार्यपालन यंत्री मंडी बोर्ड और सचिव को दिए। लक्ष्मीगंज स्थित गल्ला मंडी का निरीक्षण किया। इस मंडी प्रांगण को प्रदेश की आधुनिकतम गल्ला मंडियों के रूप में विकसित किया जा रहा है।

राजा मानसिंह विवि में पौधरोपण करते मंत्री बिसेन व माया सिंह।

लक्ष्मीगंज गल्ला मंडी का निरीक्षण के दौरान गड्‌ढों में भरे पानी से गुजरते मंत्री बिसेन।

पिछली सरकारें पौधरोपण पर ध्यान देतीं तो पर्यावरण में असंतुलन नहीं होता: बिसेन
खबरें और भी हैं...