पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • गोरा होने को लोग लगा रहे स्टेरॉयड क्रीम, बन रहे स्किन रोगी

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गोरा होने को लोग लगा रहे स्टेरॉयड क्रीम, बन रहे स्किन रोगी

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गोरा दिखने की चाह में लोग स्किन रोगी बन रहे हैं। इसकी वजह है विशेषज्ञ की सलाह के बिना स्टेरॉयड वाली फेयरनेस क्रीम का उपयोग। पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं इसका अधिक शिकार बन रही हैं। इनमें भी 18 से 35 साल तक की युवती और महिलाओं की संख्या सबसे अधिक है। स्टडी में सबसे बड़ा खुलासा यह हुआ है कि शहरी क्षेत्र की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं गोरा दिखने की क्रीम का उपयोग कर स्किन रोगी बन रही हैं। यह खुलासा हुआ है जीआरएमसी के चर्म, कुष्ठ एवं गुप्त रोग विभाग द्वारा किए गए बड़े शोध से, इसमें 1000 मरीजों पर स्टडी की गई। जीआरएमसी के स्किन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. अनुभव गर्ग के अनुसार स्टडी के आधार पर यह निष्कर्ष निकला है कि गोरा बनने की चाह में स्टेरॉयड युक्त क्रीम का उपयोग करने वालों में 60 प्रतिशत ग्रामीण और 40 प्रतिशत शहरी लोग हैं। 1000 रोगियों में 10 प्रतिशत रोगी ऐसे थे कि जिनकी बीमारी इतनी बढ़ गई कि उनकी बीमारी अब ठीक होने की स्थिति में ही नहीं है।

ऐसे पहचानें स्टेरॉयड रोजेशिया को
स्टेरॉयड युक्त क्रीम का उपयोग करने से स्टेरॉयड रोजेशिया नाम की बीमारी हो जाती है। ऐसी क्रीम को बिना विशेषज्ञ की सलाह के उपयोग करने से 4 सप्ताह के बाद ही इसके दुष्परिणाम दिखाना शुरू हो जाते हैं। स्टेरॉयड की वजह से चमड़ी में खून का संचार कम हो जाता है और वह पतली हो जाती है। इसके बाद चेहरे पर लाल चकत्ते हो जाते हैं। धूप में जाने पर चेहरा लाल पड़ जाता है। इतना ही नहीं रसोई में काम करने, गर्म खाना खाने पर भी चेहरा लाल हो जाता है। इसके बाद भी ऐसी क्रीम का उपयोग किया जाए तो चेहरे पर रौएं से लेकर बाल निकल अाते हैं। फंगल इंफेक्शन, बैक्टीरियल इंफेक्शन होने लगता है। इतना ही नहीं चेहरे पर हमेशा के लिए दाग पड़ जाते हैं।

स्टेरॉयड युक्त क्रीम से नहीं होता कोई गोरा
-डॉ. अनुभव गर्ग

एचओडी, चर्म-कुष्ठ एवं गुप्त रोग विशेषज्ञ, जीआरएमसी

स्टेरॉयड क्रीम से गोरे हो सकते हैं?

कोई क्रीम किसी को गोरा नहीं कर सकती। हां, रंग थोड़ा साफ किया जा सकता है। गोरा बनाने के नाम पर बेची जाने वाली क्रीमों में बीटामेथासोन, मोमेटासोन, क्लोबीटासोल आदि स्टेरॉयड होते हैं। कई कंपनियों की क्रीम बाजार में आसानी से उपलब्ध है। स्टेरॉयड क्रीम का उपयोग लोग मित्रों की सलाह, ब्यूटी पार्लर या मेडिकल स्टोर संचालकों और झोलाछाप डॉक्टरों की सलाह पर करने लगते हैं। जबकि इन स्टेरॉयड्स का उपयोग एग्जिमा, सफेद दाग, सोरायसिस जैसी बीमारियों के इलाज में होता है। लेकिन इनका उपयोग यदि गोरा बनने के लिए किया जाए तो परिणाम घातक होते हैं। स्टेरॉयड बिना डॉक्टर की सलाह पर देना अपराध की श्रेणी में आता है।

क्रीम से अगर परेशानी है तो मरीज क्या करे?

स्टेरॉयड क्रीम के उपयोग से परेशानी अाने लगी है तो उसका प्रयोग बंद कर दें। ठंडे पानी की पट्टी चेहरे पर रखें और धूप से बचाव रखें और कोई भी घरेलू नुस्खा न अपनाएं। नार्मल कोल्ड क्रीम का उपयोग करें। यदि आराम न मिले तो स्किन रोग विशेषज्ञ की सलाह लें।

क्रीम का उपयोग करने वालों का शैक्षणिक स्तर

13-50 तक की उम्र में बन रहीं स्किन रोगी

8वीं तक 19%

9वीं से 12वीं 51%

ग्रेजुएट 22%

पोस्ट ग्रेजुएट 8%

18 से कम 15%

18-35 60%

35 से अधिक 25%

840 महिलाओं और 160 पुरुषों पर हुए

शोध में निकला...

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें