• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • शिकायत करोगे तो दुखी रहोगे: कनकेश्वरी देवी

शिकायत करोगे तो दुखी रहोगे: कनकेश्वरी देवी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रामलीला मैदान मुरार में श्रीराम कथा के पहले दिन शनिवार को राष्ट्र संत मां कनकेश्वरी देवी ने कथा का महत्व बताया। उन्होंने मानव जीवन कैसे सफल बनाएं, सफलता के कुछ मंत्र, विनम्रता, दिन की शुरुआत कैसे करें, इसकी बहुत ही सुंदर ढंग से व्याख्या की है। उन्होंने कहा, दुनिया से शिकायत करोगे तो आप ठीक नहीं रह पाओगे। अधिकतर लोगों की वृद्धावस्था तक पहुंचते-पहुंचते यही स्थिति रहती है।

जीवन के अंतिम पड़ाव पर हमें समाधान की ओर पहुंचना है लेकिन हम पहुंच गए शिकायतों की ओर, इसलिए दुखी रहते हैं। शिकायत नहीं समाधान की चाहत रखो। इसके समाधान का सबसे सरल माध्यम श्रीराम कथा है। श्रीराम कथा सभी वर्गों के कल्याण की बात कहती है। मानव मात्र, जीव मात्र का उद्धार करने वाली राम कथा है। कथा कई अर्थों से भरी है,लेकिन लोग केवल धन को ही अर्थ समझते हैं। धन को अर्थ समझने वालों का जीवन ही व्यर्थ हो जाता है। राम कथा में निश्चयात्मक ज्ञान है। यह कथा जीव मात्र का मंगल करने वाली है। प्रकट विरोध से तो बचा जा सकता है लेकिन मानसिक विरोध से नहीं। मानसिक विरोधियों से बचने का उपाय विनम्रता है। जो काम करना है उसे प्रकट करने की बुद्धि चाहिए, जो मां सरस्वती के आशीर्वाद से ही मिलेगी।

सफलता के लिए विनम्रता जरूरी: जो काम करना है उसे सफल करने के लिए व्यक्ति में विनम्रता जरूरी है। कई बार ऐसा होता है कि आपकी कोई गलती नहीं है फिर भी अपयश होता है, क्योंकि आप में विनम्रता नहीं है। जो विनम्र नहीं है सहज नहीं है उसकी उन्नति से पड़ोसी भी जलते हैं। आप में विनम्रता है तो आपकी उन्नति में वह सहायक होता है।

गणेश, गुरु और शक्ति का स्मरण करें: दिन की शुरुआत करने के लिए नित्य कर्म के बाद सबसे पहले गणेश जी, फिर जिस रूप में चाहो उस रूप में गुरु का स्मरण करो। उसके बाद शक्ति का स्मरण करो। ऐसा जो भी करता है उसके मार्ग से सभी अवरोध दूर हो जाते हैं और वह सफल होता है।

अतिथियों ने उतारी आरती: पहले दिन की कथा के समापन पर आरती मुख्य यजमान केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व नगरीय विकास मंत्री माया सिंह, महापौर विवेक शेजवलकर, कमिश्नर एसएन रुपला, साडा अध्यक्ष राकेश जादौन, भाजपा अध्यक्षद्वय देवेश शर्मा, वीरेंद्र जैन, विधायक नरेन्द्र सिंह कुशवाह, भारत सिंह कुशवाह, घनश्याम पिरोनिया, पूर्व मंत्री मुंशीलाल, पूर्व विधायक रणवीर सिंह रावत व राकेश शुक्ल ने उतारी।

मुरार के सदर बाजार में कलश यात्रा का पुष्प वर्षा कर जगह-जगह स्वागत किया गया।

1100 कलश लेकर निकली महिलाएं, पुष्पों से स्वागत

कथा से पहले कलश यात्रा का आयोजन किया गया। आर्यनगर मुरार स्थित हनुमान मंदिर पर पूजा अर्चना कर कलश यात्रा शुरू हुई। इसमें 1100 महिलाएं अपने सिर पर कलश रखकर चल रही थीं। इनके साथ ही मुख्य यजमान रामायण सिर पर धारण कर चल रहे थे। कलश यात्रा मुरार, बारादरी, सदर बाजार आदि मार्गों से होते हुए रामलीला मैदान पहुंची, जहां गणेश पूजन के बाद मंगल कलश की स्थापना की गई और कथा का शुभारंभ हुआ । कलश यात्रा का जगह- जगह श्रद्धालुओं ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया।

कनकेश्वरी देवी

खबरें और भी हैं...