विज्ञापन

पार्श्वनाथ के आगे तलवार उठाते ही बाबर के हाथों की ताकत हो गई गायब

Dainik Bhaskar

Apr 19, 2016, 07:58 AM IST

इस प्रतिमा को तोड़ने के लिए मुगल शासक बाबर ने तलवार तो उठाई, लेकिन उसके वार करने से पहले ही हाथ उठना बंद हो गए

जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ की पद्मासन वाली प्रतिमा। जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ की पद्मासन वाली प्रतिमा।
  • comment
ग्वालियर। जैन धर्म के तीर्थंकर पार्श्वनाथ की किले की तलहटी में स्थापित है 42 फीट ऊंची प्रतिमा। इस प्रतिमा को तोड़ने के लिए मुगल शासक बाबर ने तलवार तो उठाई, लेकिन उसके वार करने से पहले ही हाथ उठना बंद हो गए। उसके बाद वह ग्वालियर से ही चला गया। दुनिया की सबसे ऊंची पद्मासन वाली प्रतिमा है यह.....
 
 
19 अप्रैल को महावीर जयंती है। इस मौके पर dainikbhaskar.com जैन तीर्थंकर  से जुड़े कुछ अनछुए पहलुओं को सामने ला रहा है।
 
-ग्वालियर दुर्ग के चारों ओर तलहटी में पहाड़ को तराशकर जैन तीर्थंकर की प्रतिमाएं बनाई गई हैं।
-जैन संप्रदाय प्रतिमा वाले क्षेत्र को गोपाचल पर्वत कहता है और सैंकड़ों प्रतिमाएं देखने को मिलती है।
-इसी पहाड़ में 23वें जैन तीर्थंकर रहे पार्श्वनाथ की पद्मासन वाली दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा है।
42 फीट लंबी और 30 फीट की दूसरी प्रतिमा को तोमर राजवंश ने दुर्ग के पहाड़ों पर बनवाया था। 
 
 
हमला करने से पहले हाथ की ताकत नहीं रही
-ऐसा बताया जाता है कि मुगल शासक बाबर ने जब ग्वालियर दुर्ग पर हमला करके अपने कब्जे में लिया तो उसने जैन प्रतिमाओं को खंडित करना शुरू कर दिया।
-बाबर  ने कई प्रतिमाएं तोड़ीं, लेकिन पार्श्वनाथ की प्रतिमा के सामने जैसे ही तलवार उठाई, वैसे ही उसके हाथों ने काम करना बंद कर दिया।
-ऐसा माना जाता है कि बाबर समझ गया कि कोई शक्ति उसे रोक रही है औऱ फिर उसने किसी प्रतिमा को खंडित नहीं किया।
 
स्लाइड्स में है पार्श्वनाथ से जुड़े कुछ फोटोज...

मुगल शासक बाबर जो पार्श्वनाथ को नहीं तोड़ पाया मुगल शासक बाबर जो पार्श्वनाथ को नहीं तोड़ पाया
  • comment
ग्वालियर फोर्ट के आसपास सैकड़ों प्रतिमाएं पहाड़ पर बनी हैं ग्वालियर फोर्ट के आसपास सैकड़ों प्रतिमाएं पहाड़ पर बनी हैं
  • comment
तोमर शासकों ने पहाड़ पर उकेरी थीं जैन प्रतिमाएं तोमर शासकों ने पहाड़ पर उकेरी थीं जैन प्रतिमाएं
  • comment
तलहटी में कई केव्स में हैं जैन प्रतिमाएं तलहटी में कई केव्स में हैं जैन प्रतिमाएं
  • comment
मुगलों ने कई प्रतिमाओं को खंडित भी किया मुगलों ने कई प्रतिमाओं को खंडित भी किया
  • comment
X
जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ की पद्मासन वाली प्रतिमा।जैन तीर्थंकर पार्श्वनाथ की पद्मासन वाली प्रतिमा।
मुगल शासक बाबर जो पार्श्वनाथ को नहीं तोड़ पायामुगल शासक बाबर जो पार्श्वनाथ को नहीं तोड़ पाया
ग्वालियर फोर्ट के आसपास सैकड़ों प्रतिमाएं पहाड़ पर बनी हैंग्वालियर फोर्ट के आसपास सैकड़ों प्रतिमाएं पहाड़ पर बनी हैं
तोमर शासकों ने पहाड़ पर उकेरी थीं जैन प्रतिमाएंतोमर शासकों ने पहाड़ पर उकेरी थीं जैन प्रतिमाएं
तलहटी में कई केव्स में हैं जैन प्रतिमाएंतलहटी में कई केव्स में हैं जैन प्रतिमाएं
मुगलों ने कई प्रतिमाओं को खंडित भी कियामुगलों ने कई प्रतिमाओं को खंडित भी किया
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें