--Advertisement--

ज्यादातर स्कूलों में मिल रहे हैं टोबेको प्रोडक्टस, VOTV के सर्वे में हुआ खुलासा

चंबल और ग्वालियर संभाग में क्षेत्र की शिक्षण संस्थाओं के आसपास तंबाकू व अन्य धूम्रपान उत्पाद आसानी से देखे व खरीदे जा सकते है। रंग रंगीले पाउचेां में बेहद आसानी से इन संस्थानों में विद्यार्थियों को मिल रहे है।

Dainik Bhaskar

May 18, 2016, 05:22 PM IST
tobacco products easily available in educational institutes  in gwalior
ग्वालियर। चंबल और ग्वालियर संभाग में क्षेत्र की शिक्षण संस्थाओं के आसपास तंबाकू व अन्य धूम्रपान उत्पाद आसानी से देखे व खरीदे जा सकते है। रंग रंगीले पाउचेां में बेहद आसानी से इन संस्थानों में विद्यार्थियों को मिल रहे है। अधिकतर शिक्षण संस्थाओं ने कोटपा-2003 के तहत इन उत्पादों की रोकथाम को दर्शाने वाले बोर्ड भी अपने परिसर में लगाना उचित भी नही समझा। नियमों का पालन नहीं कर रहे शिक्षण संस्थान....
- वायॅस ऑफ टोबेको विक्टमस (वीओटीवी) के तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान अभियान के डा. सोमिल रस्तोगी ने जानकारी दी कि चंबल और ग्वालियर संभाग में चार जिले ऐसे है जंहा पर शिक्षा विभाग के द्वारा जारी तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान निर्देश का पालन मात्र 5 प्रतिशत तक ही हो रहा है।
- वीओटीवी के सर्वे के मुताबिक दतिया में 1,346स्कूलों में से 90, गुना के 2,373 में से 104, शिवपुरी के 3,107 जिसमें से 826, ग्वालियर के 2,110 में से मात्र 119,और भिंड के 2,635 में से 146 स्कूलों में इस नियम का पालन हो रहा है।
- 3 जिले ऐसे हैं जहां पर 50 प्रतिशत से ज्याद स्कूलों में इन नियमों का पालन किया जा रहा है ।
- अशेाक नगर मे 1,551 में 1,551, मुरैना के 2,514 में 2,501 व श्येापुर के 1,220 स्कूलों में से 881 स्कूलों ने नियमों के अनुसार तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान की घोषणा कर दी है। हालांकि सर्वे में पाया गया कि इन स्कूलों के प्रशासनों की घोषणाए कागजी हैं।
- इन सभी स्कूलों पर विभाग ने अब तक कोई कार्रवाई भी नहीं की है।
X
tobacco products easily available in educational institutes  in gwalior
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..