पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • पोलिंग सेंटर ज्यादा, वहां लेट हो सकता है रिजल्ट

पोलिंग सेंटर ज्यादा, वहां लेट हो सकता है रिजल्ट

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ग्वालियर| निगमके बीस फीसदी से ज्यादा अर्थात 66 में से 15 वार्डों में पोलिंग सेंटरों की संख्या 15 से ज्यादा है। किसी वार्ड में तो पोलिंग सेंटर 25 तक हैं। इनमें काउंटिंग वाले दिन वोटों की गिनती में ज्यादा समय लग सकता है। इसी कारण चुनाव से जुड़े अफसर इन वार्डोंं में एक्स्ट्रा काउंटिंग टेबल लगाने की तैयारी कर रहे हैं।

वोटों की गिनती एमएलबी कॉलेज के पांच बड़े चार छोटे हॉल में होगी। बड़े हॉल में 11-11 वार्डों की जबकि छोटे हॉल में 6 5 वार्डों के वोटों की गिनती के लिए टेबल लगेंगी। इन सभी में अधिकतम 14-14 टेबल लग सकती हैं। उप जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग सक्सेना ने बताया कि बीस फीसदी वार्डों में पोलिंग सेंटरों की संख्या अन्य की तुलना में ज्यादा है। इसका असर काउंटिंग पर होगा और यहां पर वोटों की गिनती में वक्त लगेगा। श्री सक्सेना ने कहा कि जिन वार्डों में ज्यादा पोलिंग सेंटर हैं (अधिकतम 25 तक) वहां पर एक-एक टेबल एक्स्ट्रा लगाई जा सकती है। इससे काउंटिंग समय पर (दोपहर तीन बजे तक) निपट जाएगी।

प्रत्याशीपर एक हजार का जुर्माना: यदिकोई प्रत्याशी, उसका समर्थक किसी संपत्ति पर उसके मालिक की मंजूरी के बिना स्याही, रंग या अन्य किसी पदार्थ से कुछ लिखता है तो प्रत्याशी को एक हजार रुपए जुर्माना देना होगा। यह कार्रवाई मप्र संपत्ति विरूपण अधिनियम 1994 के तहत होगी।

महापौर समीक्षा गुप्ता के ससुर और भाजपा नेता नरेश गुप्ता गुरुवार को भाजपा कार्यालय मुखर्जी भवन में बैठे संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारियों के लिए सिंघाड़े लेकर पहुंचे।

नेताओं के लिए सिंघाड़े