पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • The Cartridge Has Sold At Rs 80 280 Police Handle

80 रुपए की कारतूस बेचते थे 280 में चढ़े पुलिस के हत्थे

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ग्वालियर। इटावा से लाई जा रही 32 बोर के कारतूसों की खेप क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार को पकड़ी है। कारतूसों के साथ दो लोग भी पकड़े गए। इनमें से एक पूर्व में गन हाउस का संचालक रहा है। आरोपियों से पूछताछ में यह भी पता चला है कि जल्द ही ये लोग रिवॉल्वर और पिस्टल की खेप लाने वाले थे।आरोपी 80 रुपए का कारतूस 280 में बेचते थे।
क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि उत्तरप्रदेश से ग्वालियर में हथियारों की खेप आ रही है। यह हथियार बदमाशों को सप्लाई होना है। मुखबिर ने पुलिसकर्मियों को हथियार लाने वालों के नाम भी बताए थे। एएसपी क्राइम योगेश्वर शर्मा के अनुसार थाटीपुर क्षेत्र में सब इंस्पेक्टर सुदेश तिवारी, आरक्षक राजकुमार और राशिद की टीम ने थाटीपुर चौराहे से राजुल अग्रवाल निवासी जीवाजी नगर तथा मनसुख कुशवाह निवासी झांसी को पकड़कर तलाशी ली तो इनके कब्जे से 32 बोर की रिवॉल्वर के 110 कारतूस मिल गए।
यह कारतूस कंपू पर तीस हजार रुपए में बेचे जाने थे। इटावा में जिस व्यक्ति से कारतूस लाए जा रहे थे और जिस व्यक्ति को यह कारतूस तीस हजार रुपए में बेचे जाने थे, उनकी पुलिस तलाश कर रही है। राजुल अग्रवाल के बारे में पुलिस को पता चला है कि इसके नाम पहले आर्म्स डीलर का लाइसेंस था, इसे कुछ साल पहले समाप्त कर दिया गया था। इसके बाद उसने बिना लाइसेंस के ही हथियारों की खरीद-फरोख्त शुरू कर दी थी।
श्री शर्मा के अनुसार राजुल और उसका साथी इसके बाद 32 बोर की रिवॉल्वर की खेप लेकर भी ग्वालियर में आने वाला था। इसका सौदा भी उसने कर लिया था। फिलहाल पुलिस इससे जुड़े हथियार के सौदागरों को तलाश कर रही है।