पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Hoshangabad
  • घर की जगह बनी दुकानें, पट्टे भी बेचे, 41 को नोटिस

घर की जगह बनी दुकानें, पट्टे भी बेचे, 41 को नोटिस

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मीनाक्षी चौक से आईटीआई रोड तक प्रशासन ने दिए थे पट्‌टे

भास्कर संवाददाता | होशंगाबाद

राजीव गांधी आश्रय योजना के तहत मकान बनाने के लिए मिले पट्टों को बेचने और पट्टों का कमर्शियल उपयोग करने पर 41 लोग चिह्नित हुए हैं। शहर में नियमों को ताक पर रखकर मनमानी के और मामले उजागर हो सकते हैं। मीनाक्षी चौक से आईटीआई रोड पर कृषि उपज मंडी के पास 41 लोगों ने पट्टे की जगह पर दुकानें खोल लीं तो कई ने पट्टे ही बेच दिए।

एसडीएम मनोज उपाध्याय ने बताया कई लोगों ने लाखों रुपए में पट्टे बेचे हैं। शिकायत पर मीनाक्षी चौक से आईटीआई रोड पर कृषि उपज मंडी के पास तक जांच की गई। इसमें 41 लोग ऐसे पाए गए हैं, जिन्होंने अपने पट्टों का दुरुपयोग किया है। पट्टों पर दुकानें, होटल खुल गई हैं। सभी लोगों से एक सप्ताह में स्पष्टीकरण मांगा है। संतोषजनक उत्तर नहीं मिलने पर पट्टे निरस्त होंगे। आश्रय योजना के तहत शहर में करीब 4000 हजार लोगों को पट्टे दिए गए हैं। राजीव गांधी आश्रय योजना के तहत मकान बनाने मिले पट्टे पर लोगों ने स्वरूप तो बदला ही है अतिक्रमण भी कर रखे हैं। पट्टे के आसपास की जगह पर मकान बना लिया। यहां तक की नालों पर दुकान तक बना दी। सोमवार को कार्रवाई के बाद लोगों में हड़कंप है।

यहां हो सकती है गड़बड़ी
पट्टे वितरण के बाद बंगाली काॅलोनी, संजय नगर, ग्वालटोली, भीलपुरा आदि जगहों पर भी गड़बड़ी होने की आशंका है। हालांकि यहां पर पटटों की जांच होगी।

भतीजे की जगह चाचा को नोटिस
होटल कारोबारी शिशुपाल सिंह राजपूत के नाम का भी एसडीएम कार्यालय से नोटिस जारी हुआ। उनका नाम 5 वे नंबर पर है। हालांकि शिशुपाल राजपूत का कहना है कि उनके नाम पर पट्टा है ही नहीं। मेरा भतीजा सौरभ है। उसके नाम की जगह मेरे नाम पर नोटिस दिया है। घर पर भी नोटिस आया था। मंगलवार को एसडीएम कार्यालय में यह जानकारी अपनी ओर से बता दूंगा। एसडीएम ने बताया सूची में यदि नाम गलत आया है तो उसे सुधार दिया जाएगा। सभी को समय दिया गया है।

खबरें और भी हैं...