• Hindi News
  • Mp
  • Hoshangabad
  • संस्कृत से संस्कार और संस्कार से समाज का कल्याण होता है: पं. सोमेश परसाई
--Advertisement--

संस्कृत से संस्कार और संस्कार से समाज का कल्याण होता है: पं. सोमेश परसाई

Hoshangabad News - भास्कर संवाददाता | होशंगाबाद संस्कृत के विस्तार के लिए देव वाणी संस्कृत वार्ता का 10 दिवसीय संस्कृत शिविर का...

Dainik Bhaskar

Jun 03, 2017, 04:30 AM IST
संस्कृत से संस्कार और संस्कार से समाज का कल्याण होता है: पं. सोमेश परसाई
भास्कर संवाददाता | होशंगाबाद

संस्कृत के विस्तार के लिए देव वाणी संस्कृत वार्ता का 10 दिवसीय संस्कृत शिविर का प्रशिक्षण आचार्य सोमेश परसाई के सनिध्य में चल रहा है। शिविर कृषि उपज मंडी के सामने चल रहा है। पं.परसाई ने बताया संस्कृत भाषा के प्रयोग से पूरा घर संस्कृतमय हो जाता है। संस्कृत से संस्कार और संस्कार से समाज का कल्याण होता है। पुरातनकाल में सभी जनमानस, पंडितों व विद्यालयों में संस्कृत भाषा में ही चर्चा की जाती थी। भगवान भी संस्कृत में चिंतन करते थे। इसलिए शिविर में संस्कृत भाषा का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिस से नई युवा पीड़ी को भाषा का ज्ञान हो सके। यह प्रशिक्षण ब्राह्मण, क्षत्रीय, वैश्य, शोद्र चारों वर्णें के लोगों के लिए है। प्रशिक्षिण हरदा से आए पं. प्रफुल्ल दुबे शास्त्री के द्वारा 25 विद्यार्थी को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रशिक्षण के दूसरे दिन लोक संस्कृत के विषय में समझाया। प्रशिक्षण में हमारे जीवन में प्रतिदिन उपयोग होने वाली वस्तुओं को संस्कृत भाषा में उच्चारण करके बताया। जो इस प्रकार है। 1. साबुन- स्नान फेनकम् 2. कपड़े क साबुन- वस्त्र फेनकम् 3. गिलास- चषक: 4. कटोरी- कचोल: 5. दोना- द्रोण 6. फूल- पुष्पम। परसाई ने बताया शिविर कृषि उपज मंडी के सामने चल रहा है।

X
संस्कृत से संस्कार और संस्कार से समाज का कल्याण होता है: पं. सोमेश परसाई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..