पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सीएंडडब्ल्यू, ऑपरेटिंग व कुली इलेवन जीता, प्रतियोगिता में हुए तीन मैच

सीएंडडब्ल्यू, ऑपरेटिंग व कुली इलेवन जीता, प्रतियोगिता में हुए तीन मैच

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पहला मैच सीएंडडब्ल्यू और इंजीनियरिंग की टीम बीच हुआ

भास्कर संवाददाता | इटारसी

पश्चिम मध्यक्षेत्र रेल खेल संस्थान के तत्वावधान में 12 बंगला रेलवे इंस्टीट्यूट में लेदर बॉल क्रिकेट प्रतियोगिता में सोमवार को तीन मैच खेले। पहला मैच सीएंडडब्ल्यू और इंजीनियरिंग की टीम बीच हुआ। इसमें टॉस जीतकर सीएंडडब्ल्यू ने पहले बल्लेबाजी की। खिलाड़ियों ने 15 ओवर में 4 विकेट खोकर 111 रन बनाएं। कप्तान जीतू केवट ने 34, जितेंद्र चौहान ने 22 रनों का योगदान दिया। इंजीनियरिंग टीम 18 रनों से पराजित हुई। मैन ऑफ द मैच जितेंद्र चौहान रहे। दूसरा मैच ऑपरेटिंग टीम और एसएनटी टीम के बीच हुआ। ऑपरेटिंग टीम के खिलाड़ियों ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट के नुकसान में 122 रन बनाएं। मुकेश चौहान ने 29 और सुनील परदेशी ने 20 रन बनाएं। जवाबी पारी खेलते हुए 71 रनों पर एसएनटी टीम सिमट गई। ऑपरेटिंग टीम से गेंदबाजी में धर्मेंद्र कुमार ने 3, मुकेश चौहान ने 1 विकेट लिए। ऑपरेटिंग टीम के मुकेश चौहान मैन ऑफ द मैच रहे। तीसरा मैच कुली इलेवन और टीटीई इलेवन के बीच हुआ। टीटीई इलेवन के खिलाड़ियों ने 15 अोवर में 63 रन बनाए। जितेंद्र कुमार ने 21 रनों का योगदान दिया। कुली इलेवन की टीम ने जवाबी पारी खेलते हुए 65 बनाकर 10 विकेट से मैच जीत लिया। खिलाड़ी गोलू दुबे ने 45 रनों की शानदार पारी खेल मैन आॅफ द मैच का खिताब जीता। मुख्य अतिथि सुनील कुमार, विपुल तिवारी, केशव कुशवाहा ने खिलाड़ियों से परिचय किया। अंपायर राकेश दुबे, पूनम अमरोही, नितिन पाटेकर और हैरी थी।

इटारसी। क्रिकेट मैच खेलते खिलाड़ी।

सनोवर खान ने जीता गोल्ड
इटारसी| जीवोदय संस्था की सनोवर खान ने राज्य स्तरीय कराते स्पर्धा में गोल्ड जीता है। मप्र सरकार एवं एमपी ओलंपिक एसोसिएशन ने राज्य स्तरीय ओलंपिक प्रतियोगिता का आयोजन किया था। मप्र खेल एवं युवा कल्याण विभाग भोपाल एकेडमी से सनोवर खान ने जबलपुर की मानवी को हराकर गोल्ड मेडल जीता। सनोवर इटारसी में फ्रेंड्स कन्या शाला में 8वीं तक पढ़ी। अगस्त 2016 में एडमिशन भोपाल में करवाया। वह संस्था को प्लेटफॉर्म पर मिली थी। सनोवर का कहना है कोच जयदेव शर्मा ने जीतने का हौसला दिया। सिस्टर क्लारा ने दिशा दिखाई।

खबरें और भी हैं...