पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • डीआरएम आने की खबर सुनकर आनन फानन में रेलवे स्टेशन पर कराई सफाई

डीआरएम आने की खबर सुनकर आनन-फानन में रेलवे स्टेशन पर कराई सफाई

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पौन घंटे कोच में लंच किया, आधा घंटे में निरीक्षण कर लौटे डीआरएम
जबलपुर मंडल डीआरएम सुधीर कुमार स्पेशल कोच से सोमवार दोपहर 2.30 बजे पिपरिया पहुंचे। 3 नंबर प्लेटफार्म पर खड़े स्पेशल कोच में ही लंच लेकर करीब 3.10 बजे डीआरएम कोच से बाहर निकले। उन्होंने प्लेटफार्म नंबर 1, 2 सहित 3 नंबर के बाहर पचमढ़ी रोड तरफ चल रहे शेड निर्माण का जायजा लिया। प्लेटफार्म 1 नंबर पर बने पैनल रूम का निरीक्षण किया। विद्युतीकरण के बाद ट्रेनों का संचालन कैसे होगा डीजल इंजन कहां खड़े होंगे इसे लेकर तकनीकी पहलुओं पर बातचीत की। इटारसी-पिपरिया के बीच 69 किमी में विद्युतीकरण का काम पूरा हो गया है। मार्च में चालू हा़े सकता है। जबलपुर तरफ ट्रैक के विद्युतीकरण में समय लगेगा। डीआरएम ने अधिकारियों ने रेलवे रैक पाइंट के संबंध में पूछताछ की। हर माह औसतन 9 रैक अनाज और फर्टीलाइजर की लगती हैं। डीआरएम ने रेलवे रैक बढ़वाने के लिए कहा। इधर नागरिकों ने रैक पाइंट को प्लेटफार्म से दूर इटारसी छोर पर शिफ्ट करने के लिए मांग की है। पार्षद परिषद के माध्यम से डिमांड भेजने के लिए कह चुके हैं। डीआरएम ने प्लेटफार्म 1 और 3 पर कोच डिस्प्ले सिस्टम के बारे में अधिकारियों से पूछताछ की। अधिकारियों ने डिस्प्ले लगवाने की बात कही। डीआरएम ने काम जल्दी कराने के निर्देश दिए। स्टेशन प्रबंधक जेएन मीना ने बताया डीआरएम ने रुके कामों काे जल्दी कराने के निर्देश दिए और व्यवस्थाएं देखीं।

रेलवे स्टेशन पर इंक्वायरी के लिए एलईडी लगाने की डिमांड

रेलवे स्टेशन के 1 और 2 प्लेटफार्म के बीच में पूछताछ कार्यालय है। ट्रेन संबंधी पूछताछ के लिए लोगों को यहां आना पड़ता है। टिकट चैकिंग के दौरान लोगों को परेशानी होती है। रेलवे न तो पूछताछ कार्यालय बाहर शिफ्ट कर रही है और न ही इंक्वायरी के लिए बाहर एलईडी लगवा रही है। रोज सैकड़ों लोग परेशान होते हैं। लोगों को जानकारी के लिए फुटब्रिज चढ़कर कार्यालय तक आना पड़ता है। यहां टीसी ऑफिस को ही पूछताछ कार्यालय बना रखा है। लोगों ने बाहर बने दोनों बुकिंग काउंटरों पर ट्रेनों की जानकारी के लिए बड़ी एलईडी लगवाने की मांग की।

ये भी हैं मांगे
ट्रेन पुणे-पटना का स्टाॅपेज पिपरिया हो। इसके स्टापेज से टाइमिंग में फर्क नहीं पड़ेगा। सैकड़ों लोगों को लाभ होगा। पचमढ़ी आने वाले सैलानियों और आर्मी जवानों को भी सहूलियत होगी। अमरकंटक एक्सप्रेस में दिन के समय स्लीपर कोच में विशेष शुल्क लेकर यात्रा की सुविधा दी जाए, मंगलवारा सिटी साइड क्षेत्र में सुविधागृह का निर्माण हो, 1.41 करोड़ रुपए की लागत से बने रैम्प फुटब्रिज को शुरू हुए दो साल हो गया, लेकिन नए ब्रिज की अपेक्षा लोग पुराने फुटब्रिज का इस्तेमाल कर रहे हैं। नया रैंप फुटब्रिज सूना रहता है। ब्रिज यात्रियों के काम नहीं आ रहा। विकलांग और बुजुर्ग यात्री परेशान हैं।

पिपरिया। रेलवे स्टेशन पर निरीक्षण करते डीआरएम सुधीर कुमार।

बनखेड़ी| रेलवे विभाग के डीआरएम सुधीर कुमार दल के साथ जबलपुर से पिपरिया स्टेशनों का निरीक्षण के लिए निकले। पांच मिनट बनखेड़ी रेलवे स्टेशन पर रुके। जनप्रतिनिधियों से चर्चा की और बिना निरीक्षण किए चले गए। जनप्रतिनिधियों ने स्टेशन पर व्याप्त समस्याओं को लेकर चर्चा की। दिलीप साहू ने ज्ञापन सौंपते हुए रात्रिकालीन ट्रेन स्टॉपेज, बुकिंग व्यवस्था सहित आदि समस्याओं को हल कराने मांग की। शनिवार को स्टेशन मास्टर ओपी बिजवे द्वारा की गई अभद्रता के संबंध लोगों ने जांच कराने की मांग की। इस पर डीआरएम ने मामले को दिखवाने का आश्वासन दिया। बिना निरीक्षण किए ही स्पेशल ट्रेन में बैठ गए। डीआरएम की गाड़ी आने के करीब 5 से 10 मिनट पूर्व स्टेशन प्रबंधक द्वारा परिसर में साफ-सफाई, झाडू एवं ट्रैक पर ब्लिचिंग पाउडर का छिड़काव कराया। दस्तावेजों को ब्रेंच पर रखा गया। केएल पटेल, सतीष पांडे, दिलीप साहू, अमित माहेश्वरी, पिंकी मिश्रा, उमेश साहू, कैलाश राकेश, अतुल राय, नीलेश व्यास, लीलाधर मेहरा, पंकज खटीक मौजूद थे।

बीकेएच 01- जनप्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए डीआरएम।



खबरें और भी हैं...