पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • धार और बड़वानी के 21 गांवों के मवेशियों को तीन माह में 10.30 करोड़ का चारा खिलाएगी सरकार

धार और बड़वानी के 21 गांवों के मवेशियों को तीन माह में 10.30 करोड़ का चारा खिलाएगी सरकार

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
23 हजार पशुओं का भी इंतजाम
धार जिले के डूब प्रभावित क्षेत्रों के 14 हजार मवेशियों के शेड के साथ भूसा चारे के लिए सात करोड़ का प्रावधान किया गया है। मवेशियों पर छह लाख रुपए रोज खर्च होने का अनुमान है। वहीं, बड़वानी जिले में नौ हजार पशुओं के चारे पर तीन महीने में तीन करोड़ 30 लाख रुपए से ज्यादा खर्च किए जाएंगे।

27 हजार लोगों को रोज खाना
सरकार धार के 16 केंद्रों में 20 हजार से ज्यादा लोगों के खाने की व्यवस्था करने जा रही है। चार माह में इस पर 13 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च का अनुमान है। वहीं, बड़वानी के पांच केंद्रों में सात हजार लोगों के चाय-नाश्ते और भोजन की व्यवस्था की जा रही है। इस पर करीब 11 करोड़ रुपए का खर्च आना है।

1 अगस्त से शुरू होंेगे शिविर
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक हमने सभी तरह की व्यवस्था कर दी है। 1 अगस्त से हमारे शिविर चालू हो जाएंगे। - श्रीमन शुक्ला, कलेक्टर धार

धार जिला

बड़वानी

पशुचारे पर खर्च

4 लाख रुपए खर्च

6 लाख रुपए खर्च

सुनील सिंह बघेल | इंदौर

सरदार सरोवर बांध के गेट बंद होने से धार-बड़वानी जिले के प्रभावित 21 गांव के मवेशियों को प्रदेश सरकार तीन महीनों में 10 करोड़ 30 लाख रुपए से ज्यादा का चारा खिलाएगी। वहीं, 21 राहत शिविरों पर विस्थापित लोगों के खाने पर 24 करोड़ से ज्यादा खर्च किए जाएंगे। सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के अनुसार धार जिले के निसरपुर सहित 16 गांवों के लोगों व मवेशियों के लिए 31 जुलाई तक व्यवस्था की जाना है।

धार जिला

बड़वानी

विस्थापितों के खाने पर

9 लाख रुपए खर्च

15 लाख रुपए खर्च

खबरें और भी हैं...