पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

40 साल से कायम है परंपरा

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
40 साल से कायम है परंपरा

सत्तन पुराने इंदौर में “गुरु’ के नाम से ही जाने जाते हंै। जिस तरह सियासत के मैदान में वे बेबाकी से अपनी बात रखते रहे हैं, उसी तरह का अंदाज कवि सम्मेलनों के मंच पर रहा है। उनके नेतृत्व में इंदौर में चार दशक पहले कवि सम्मेलन की शृंखला जो कायम हुई थी, वह आज भी जारी है। सत्तन मंगलवार को 78 साल के हो जाएंगे। जन्मदिन पर सुबह नौ बजे उनका सम्मान मल्हारगंज स्थित निवास पर सत्तन गुरु शिष्य मंडल करेगा। मंडल के राकेश शर्मा ने बताया इस मौके पर कवि, रचनाकर, साहित्यकार और जनप्रतिनिधि मौजूद रहेंगे।

खबरें और भी हैं...