पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 250 वारंटियों को गिरफ्तार कर 200 बार जीता इनाम

250 वारंटियों को गिरफ्तार कर 200 बार जीता इनाम

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोतवाली थाने में पदस्थ एक प्रधान आरक्षक कमल सिंह रघुवंशी को फरार वारंटियों को पकड़ने में अच्छी खासी महारत हासिल हो गई है। अपने खास सूचना तंत्र की बदौलत प्रधान आरक्षक श्री रघुवंशी अब तक 250 से ज्यादा फरार वारंटियों को गिरफ्तार कर चुके हैं। इसके लिए कमल सिंह को सैकड़ों नगद पुरस्कार मिल चुके हैं। अलग-अलग थानों में दर्ज अपहरण, बंधक, बलात्कार, चोरी, धोखाधड़ी, चैक बाउंस जैसे बड़े अपराधों के फरार वारंटियों को पकड़ने में प्रआ कमल सिंह ने अपनी अहम भूमिका निभाई है।

अमूमन मामलों में पुलिस को यही कहते हुए देखा जाता है कि वारंंटी फरार है वह मिल नहीं रहा है। इस वजह से मामले में न्यायालय में निराकरण के लिए लटके रहते हैं। अपराधियों को समय पर सजा नहीं मिल पाती है। पीड़ित को न्याय नहीं मिल पाता है। इन सबके बीच विदिशा थाने में पदस्थ प्रधान आरक्षक जल्दी कार्रवाई को अंजाम देते हुए वारंटियों को गिरफ्तार कर लेते हैं। चार दिन पहले ही कि सिविल लाइंस थाने में दर्ज एक चैक बाउंस के मामले में फरार चल रहे आरोपी को रामद्वारा से गिरफ्तार किया था। इसके अलावा दो माह पहले 45 लाख रुपए के एक बाउंस के मामले में करीब चार साल से फरार चल रहे 2 हजार रुपए के इनामी वारंटी को इंदौर से गिरफ्तार किया था। कमल सिंह ने बताया कि उन्होंने दर्जनों इनामी वारंटियों को गिरफ्तार किया है। जिनके लिए उन्हें विशेष सम्मान पुलिस विभाग की ओर से मिल चुका है। उन्होंने बताया कि इंदौर, राजगढ़, भोपाल, रायसेन, सीहोर, गुना सहित अनेक स्थानों से अलग-अलग मामलों में फरार वारंटियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। उन्होंने बताया कि अपनी जिम्मेदारी को पूरी गंभीरता के साथ निभाने की कोशिश रहती है।

तीन साल से लगातार स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस पर हो रहे सम्मानित
एसएपी धर्मेंद्र चौधरी ने बताया कि प्रधान आरक्षक कमल सिंह रघुवंशी का सूचना तंत्र बहुत मजबूत है। जिसकी बदौलत प्रआ कमल सिंह सैकड़ों स्थाई वारंटियों को गिरफ्तार कर चुका है। उन्होंने बताया कि 200 के करीब नगद पुरस्कार विभाग की ओर से उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रधान आरक्षक कमल सिंह को दिए जा चुके हैं। एसपी श्री चौधरी ने बताया कि लगातार तीन साल से प्रआ कमल सिंह को 15 अगस्त और 26 जनवरी पर विशेष सम्मान से नवाजा गया है। उन्होंने बताया कि उक्त प्रधान आरक्षक ने फरार वारंटियों की गिरफ्तारी के मामले हमेशा महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

साहस
खबरें और भी हैं...