• Hindi News
  • National
  • हथियार सहित पकड़ाए बदमाशों से सांठगांठ में क्राइम ब्रांच का एएसआई लाइन अटैच

हथियार सहित पकड़ाए बदमाशों से सांठगांठ में क्राइम ब्रांच का एएसआई लाइन अटैच

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
क्राइम ब्रांच ने पिछले दिनों अवैध रूप से हथियार बेचने वाले गिरोह के 11 बदमाशों को गिरफ्तार किया था। इस मामले में क्राइम ब्रांच के ही एक एएसआई ने संदेह के आधार पर कुछ बदमाशों को हिरासत में लेकर बाद में सांठगांठ कर छोड़ दिया। इसकी भनक वरिष्ठ अफसरों को लगी तो एएसआई को लाइन अटैच कर दिया गया। डीआईजी ने एएसपी को जांच के निर्देश दिए हैं।

एएसपी अमरेंद्र सिंह चौहान ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि एएसआई रामअवतार दीक्षित को डीआईजी के निर्देश पर लाइन अटैच किया गया है। इन पर भंवरकुआं क्षेत्र स्थित एक जिम के कर्मचारी से रुपए लेने की बात सामने आई थी। सूत्रों की मानें तो अवैध हथियार बेचने वाले के गिरोह ने रसूखदार लोगों से सांठ-गांठ करवाने के प्रयास किए थे। जिम में काम करने वाले एक युवक से पिस्टल मिली थी, जिसे सांठगांठ कर एएसआई दीक्षित ने छोड़ दिया था। इस प्रकरण में क्राइम ब्रांच की टेक्निकल शाखा के एएसआई पर भी एक युवक को 20 हजार रुपए लेकर छोड़ने के आरोप लगे हैं जिसकी जांच भी एएसपी क्राइम कर रहे हैं। एएसपी ने बताया कि फिलहाल उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं। बताते हैं कि अवैध हथियार से जुड़े गिरोह की लिंक सिकलीगर व अन्य बदमाशों से भी जुड़ी थी, संदेह के आधार पर लाकर पूछताछ भी की गई, लेकिन बाद में कई लोगों को छोड़ दिया गया।

बीट में सक्रिय न होने पर जूनी इंदौर थाने का एसआई भी लाइन अटैच
तीन दिन पूर्व जूनी इंदौर थाना क्षेत्र में भारत- इंग्लैंड के बीच चल रहे टी-20 मैच में सट्टा लगाने वाले डॉलर मार्केट के मोबाइल व्यापारी मोनू डालर उर्फ मोहन वाधवानी (27)व उसके साथी दीपक कटारिया (27) द्वारकापुरी, महेश जेठवानी (51) निवासी पलसीकर और प्रहलाद रूपानी (52) को क्राइम ब्रांच द्वारा पकड़ने के बाद बीट में सक्रिय न रहने वाले एसआई महेश दुबे को भी डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने लाइन अटैच किया है।

खबरें और भी हैं...