• Hindi News
  • 35 किलो चांदी से निर्मित सिंहासन पर विराजित हुए स्वामी गिरिजानंद

35 किलो चांदी से निर्मित सिंहासन पर विराजित हुए स्वामी गिरिजानंद

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
श्री श्रीविद्याधाम के संस्थापक ब्रह्मलीन स्वामी गिरिजानंद सरस्वती भगवन के मंदिर का पहला प्राण प्रतिष्ठा दिवस रविवार को मनाया गया। इसमें प्रमुख संतों के सान्निध्य में 35 किलो चांदी से निर्मित सिंहासन पर भगवन को विराजित किया गया।

श्री निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी पुण्यानंद गिरि के सान्निध्य में भक्तों ने पुष्पांजलि अर्पित की। मंदिर और प्रतिमा का भव्य शृंगार भी किया गया। महिलाओं ने भजन पेश कर दीपों से आरती उतारी। अतिथि संतों का सम्मान भी किया गया।

मां पराम्बा की शोभायात्रा आज
मंदिर ट्रस्ट के मंत्री पं. दिनेश शर्मा के अनुसार आश्रम के 21 वें प्रकाशोत्सव में सोमवार को मां पराम्बा की शोभायात्रा सुबह आश्रम परिसर से कान्यकुब्ज नगर, 60 फीट रोड, सुखदेव नगर, कालानी नगर चौराहा, एरोड्रम रोड होते हुए फिर आश्रम पहुंचेगी। मां पराम्बा सुसज्जित रथ पर विराजित होंगी, एक अन्य रथ पर भगवन रहेंगे। मंगलवार को पुष्प बंगला सजेगा।

विद्याधाम में चांदी के सिंहासन पर स्थापित की गई स्वामी गिरिजानंद की प्रतिमा।