• Hindi News
  • आगामी माह से चावल में जोरदार मांग की उम्मीद

आगामी माह से चावल में जोरदार मांग की उम्मीद

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर |अधिक उत्पादन से चावल में इस साल भाव कम खुले हैं, लेकिन निर्यात व घरेलू मांग भी सीमित है। इससे भाव में वृद्धि नहीं हो पा रही है। गत वर्ष 102 लाख टन चावल निर्यात करके भारत विश्व में सबसे बड़ा निर्यातक देश बना था। इस वर्ष निर्यात मांग में गत वर्ष की अपेक्षा कम निर्यात रहा है। उत्पादन अधिक होने से भी भाव में गिरावट हुई।

छावनी के चावल व्यापारी दयालदास अजीतकुमार ने बताया कि आगामी माह गर्मी का होने से निर्यात बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है और घरेलू मांग में भी चावल का उपभोग बढ़ने से अच्छी ग्राहकी की उम्मीद है। 1121 चावल खाड़ी देशों में व ट्रेडिशनल बासमती यूरोपीय देशों में लगातार जा रहा है। मोटे चावल जैसे परमल व सैला बांग्लादेश व अफ्रीकी देशों में जा रहे हैं। राईस मिलर्स के पास पिछले साल का भी काफी स्टॉक मौजूद है। साथ ही इस साल भी धान का स्टाॅक काफी होने से भाव में तेजी नहीं आ पा रही है, लेकिन निर्यात व घरेलू मांग के इंतजार में कम भाव में भी बेचवाल नहीं है। इस वजह से चावल में अगले महीने ही तेजी-मंदी देखने को मिल सकती है।