ये हैं देव आनंद के हमशक्ल, सूपरस्टार ने इनसे बोला था- कुछ फिल्में दिला दो

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर. 'ख़ाकी', 'बड़े मियां छोटे मियां', 'दिल' सहित 100 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके किशोर भानुशाली (जूनियर देव आनंद) सोमवार को शहर आए। पढ़िए भास्कर से उनकी खास बातचीत।
मैं तुम्हारी कॉपी करूंगा
1991 में फिल्म 'दिल' रिलीज़ हुई थी। उस वक्त देव आनंद साहब ने मुझे बुलाया और कहा आज के बाद मैं तुम्हारी कॉपी करूंगा क्योंकि मुझसे ज्यादा तुम देव आनंद लगते हो। मुझसे पूछा कितनी फिल्में कर रहे हो। मैंने कहा 10-12 फिल्म है साहब। वे बोले मेरे पास तो सिर्फ दो फिल्में हैं, कुछ फिल्में मुझे भी दिला दो। मैं जिनको गुरु मानता था, वह मेरे सामने थे। नर्वस होने से मैं बस इतना कह सका कि आपके साथ एक फिल्म करना चाहता हूं। वे बोले जरूर करेंगे।
देव साहब के साथ देखी ज्वेल थीफ और गाइड
मैं 10 साल का था तब से ही लोग कहते थे कि देव आनंद की तरह लग रहे हो। उस समय मुझे मालूम नहीं था कि देव आनंद कौन हैं। मैंने उनकी फिल्म 'जॉनी मेरा नाम' और 'गाइड' देखी। सोचा शक्ल तो मिलती है। आईने के सामने खड़ा हुआ। गले में रूमाल बांधा और गर्दन हिलाई। तब से आज तक देव आनंद साहब की पहचान लिए घूम रहा हूं। मैं खुश किस्मत हूं कि लोग मेरे अंदर देव आनंद साहब को देखते हैं। उनकी मृत्यु होने से दो महीने पहले उनसे मुलाकात हुई थी।
मिमिक्री आर्टिस्ट बनकर रह गया
देव साहब की वजह से हर जगह रिस्पेक्ट मिलती है लेकिन एक नुकसान भी है कि इस गेटअप की वजह से दूसरे रोल नहीं मिलते हैं। मैं हर तरह के रोल करना चाहता हूं पर देव साहब की तरह लगने के कारण सिर्फ उनकी मिमिक्री के किरदार ही मिलते रहे।
आगे की स्लाइड्स में देखिए संबंधित फोटोज।