पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हॉस्पिटल के अंदर 24 घंटे में हुई 17 मौतों को सरकार ने बताया सामान्य

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर. एमवाय अस्पताल में 24 घंटे में हुई 17 मौतों को राज्य सरकार ने सामान्य मौतें बताया। हाई कोर्ट में जनहित याचिका पर जवाब देते हुए सरकार ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी से मौत होने का एक भी प्रमाण नहींं है। याचिका में भी इस संबंध में कोई दस्तावेज पेश नहीं किए गए। याचिका को निरस्त किया जाना चाहिए। इस पर हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता को दो सप्ताह में सरकार के जवाब पर अपना जवाब देने के लिए कहा है।
 
जस्टिस पीके जायसवाल, जस्टिस वेदप्रकाश शर्मा की डिविजन बेंच इस मामले की सुनवाई कर रही है। याचिकाकर्ता प्रमोद द्विवेदी की ओर से अधिवक्ता मनीष यादव पैरवी कर रहे हैं। सरकार ने जवाब में कहा कि उसने इस मामले के लिए जांच कमेटी गठित कर दी। एमवाय अस्पताल में इंदौर के अलावा आसपास के जिलों से भी मरीज आते हैं। रोज अलग-अलग कारणों से मौत होती है। सभी मौतें किसी एक वार्ड या आईसीयू में नहीं हुईं। अलग-अलग जगह हुई हैं। हालांकि सरकार ने जांच कमेटी की रिपोर्ट जवाब के रूप में प्रस्तुत नहीं की। उल्लेखनीय है कि एक मृतक के परिजन ने ऑक्सीजन की कमी से मौत होने का दावा किया है। हाईकोर्ट में शपथ पत्र भी दिया है। 22 जून को सुबह 4 से 5 बजे के बीच एक साथ छह लोगों की मौत भी हुई थी। इनमें से एक का भी पोस्टमॉर्टम नहीं कराया गया था।
 
 
 
खबरें और भी हैं...