• Hindi News
  • PMT Fraud STF Raid Arrest School Principal

पीएमटी फर्जीवाड़ाः एसटीएफ ने दी दबिश, स्कूल प्रिंसिपल सहित छह हिरासत में

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इंदौर. पीएमटी फर्जीवाड़े में एसटीएफ ने धार जिले के कई स्थानों पर दबिश देकर छह लोगों को हिरासत में लिया है। इनमें शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल के प्रिंसिपल, दो शिक्षक और एक अन्य व्यक्ति शामिल है। वर्ष 2012 की पीएमटी में इन चारों ने अपने बच्चों को पास करवाने के लिए फर्जीवाड़े के सरगना डॉ. जगदीश सागर और गंगाराम प्रजापत से संपर्क किया था। दो अन्य छात्रों की तलाश की जा रही है।

एसटीएफ एआईजी आशीष खरे के अनुसार 2012 की पीएमटी में भी फर्जीवाड़े सामने आए हैं। इसकी जांच में एक टीम एएसआई मनोहरसिंह चौहान के नेतृत्व में कुक्षी, मनावर और गंधवानी भेजी थी। टीम ने कुक्षी से गोविंद एसके, गंधवानी के ग्राम अंजताड़ से छात्र राजकुमार व उसके पिता धनसिंह कनास, ग्राम खोलिया (कुक्षी) से छात्र विनोद कुमार व उसके पिता कालूसिंह रावत और राजेंद्र मुकाती को हिरासत में लिया है।

सागर के गुर्गे गंगाराम से थे संपर्क में

कुक्षी के गोविंद ने वर्ष 2012 की पीएमटी में बेटे अनिल के लिए गंगाराम प्रजापत से संपर्क किया था। इसी के माध्यम से पास होकर वह इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज में सिलेक्ट हुआ था। गोविंद ग्राम पडि़हाल में शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल के प्राचार्य हैं। वहीं छात्र राजकुमार के पिता धनसिंह और छात्र विनोद के पिता कालू सिंह भी शासकीय स्कूलों में शिक्षक हैंं।

पिता को पकड़ा, बेटा नहीं मिला

सूत्रों के अनुसार एसटीएफ की टीम छात्र अनिल की तलाश में कुक्षी पहुंची तो पिता गोविंद मिले। टीम ने बेटे के बारे में पूछा तो वे टालमटोल करने लगे। सख्ती दिखाई तो ग्राम लोंगसारी के सरपंच संतोष कुमार ने बीच बचाव कर उन्हें गिरफ्तार न करने के लिए हस्तक्षेप किया। टीम ने फर्जीवाड़े में भूमिका बताई तो सरपंच ने प्रिंसिपल के बेटे अनिल को फोन कर एसटीएफ के समक्ष उपस्थित होने का कहा। इधर, एसटीएफ ने पिता गोविंद को हिरासत में ले लिया और इंदौर पहुंच गई। शुक्रवार दोपहर सरपंच संतोष ने दोबारा अनिल को फोन किया और एसटीएफ कार्यालय बुलाया तो उसने फोन बंद कर लिया। एसटीएफ ने गोविंद को भोपाल रवाना कर दिया। अब एसटीएफ अनिल को तलाश रही है।

बेटी सीधे एसटीएफ कार्यालय पहुंची

एएसआई मनोहरसिंह चौहान ने बताया आरोपी छात्र विनोद कुमार भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज में है, वहीं अनिल एसके और राजकुमार इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज के छात्र हैं। राजेंद्र मुकाती की बेटी योगमाया भी फर्जी ढंग से पीएमटी 2012 में सिलेक्ट होकर अरबिंदो मेडिकल कॉलेज में पढ़ रही है। पिता के हिरासत में आने की खबर मिलते ही छात्रा योगमाया सीधे भोपाल एसटीएफ कार्यालय जा पहुंची।