पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिर झुकाए जेल के कायदे सुनती रही डॉक्टर की बहू

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर. यह जेल है। यहां कायदे से रहोगी तो फायदे में रहोगी। अपने कंबल, चादर, थाली, कटोरी, गिलास संभालो और बैरक में चली जाओ। कुछ दिन की बात है। फिर तुम्हारी जमानत हो जाएगी। बुधवार को जिला जेल में जेलर ने शहर के ख्यात डॉक्टर की बहू को यह हिदायत उस वक्त दी, जब कैदियों का सामना हो रहा था।
40 लाख के जेवर चुराने व प्रॉपर्टी ब्रोकर से अवैध संबंध के आरोप में तुकोगंज पुलिस ने डॉक्टर की बहू व प्रॉपर्टी ब्रोकर को गिरफ्तार किया था। दोनों को मंगलवार को कोर्ट ने जेल भेज दिया था।
शाम करीब साढ़े पांच बजे पुलिस ने बहू को जिला जेल में दाखिल कराया। जेलर आरएस भाटी के मुताबिक प्रवेश करते ही बहू रोने लगी। उसे महिला वार्ड में भेजा गया, जहां वह रातभर गुमसुम रही। बुधवार सुबह 9.30 बजे नई आमद (आने वाले कैदी) का जेल अफसरों से सामना करवाया जा रहा था। बहू को भी लाया गया। उसने अफसरों के सामने भी रटे-रटाए जवाब दिए। दोपहर में परिजन मुलाकात करने पहुंचे। इसके बाद उसकी आंखों में आंसू आ गए।