--Advertisement--

कलाकार वाजिद अली खान ने ली वर्कशॉप, बच्चों को दिए टिप्स

एक बच्चा जिसकी आंखों से आंसू अभी छलके ही हैं... बस कुछ पल और... और वह बिलख पड़ेगा।

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2014, 06:27 AM IST
Wajid Ali Khan artist Workshop
इंदौर. एक बच्चा जिसकी आंखों से आंसू अभी छलके ही हैं... बस कुछ पल और... और वह बिलख पड़ेगा। बच्चे के चेहरे के इन भावों को शहर के एक चितेरे ने अनोखे अंदाज़ में साकार किया है। चितेरा जो कैनवस, कूची और रंगों की जगह लकड़ी पर कीलों से कल्पनाएं उकेर रहा है। यह कलाकार हैं शहर के वाजिद अली खान।
प्लाय पर कीलों से बनाने के अपने इस हुनर को वाजिद पेटेंट भी करा चुके हैं। अब वे सर्जिकल इक्विपमेंट्स से तस्वीरें बना रहे हैं। फिलहाल जो आर्टवर्क वे तैयार कर रहे हैं वह एक बच्चे का पोर्ट्रेट है। इस आर्ट के लिए भी उन्होंने पेटेंट फाइल किया है। पिछले दिनों उन्होंने वर्चुअल वाेऐज में वर्कशॉप ली और स्टूडेंट्स को पेटेंट के फायदे बताए।
50 कैंचियां मांगी तो शक करने लगे दुकानदार

वाजिद ने बताया कि इस पेंटिंग के लिए मैंने मेडिकल स्टोर से 50 सर्जिकल सिज़र्स मांगे। दुकानदार ने मना कर दिया। उन्हें शक हुआ कि मैं अपराधी तो नहीं। स्टूडेंट्स को मैंने यह किस्सा इसलिए सुनाया कि ऐतराज़ तो हर बात पर होगा, लेकिन अपने हुनर पर यक़ीन रखना।
कल्पनाओं पर मत लगाओ पाबंदियां

वाजिद ने स्टूडेंट्स से कहा कि मेरे घर में फर्नीचर का काम होता था। कीलें और लकड़ी आसानी से मिल जाया करती थीं, इसलिए मैं इनके साथ एक्सपेरिमेंट करता रहा। एक दिन कुछ ठीकठाक आकृति बन गई और तभी से मैंने यह काम करना शुरू किया। युवा मन में कई कल्पनाएं जन्म लेंगी। इन पर पाबंदियां न लगाएं। सोच को उन्मुक्त उड़ने दें।
पेटेंट के बाद 1 लाख की पेंटिंग 50 लाख में

वाजिद ने 2012 में पेटेंट फाइल किया था। अब उन्हें कीलों के आर्ट के लिए पेटेंट मिल चुका है। उन्होंने स्टूडेंट्स से कहा कि पेटेंट अपने इनोवेशन को कानूनी तौर पर अपना कहने का ज़रिया है। नेल आर्ट के बारे में कोई भी इंटरनेट पर देखेगा तो मेरा नाम इसे बनाने वाले सबसे पहले आर्टिस्ट के तौर पर सामने आएगा। यह फायदेमंद भी है। जो पेंटिंग पहले 1 लाख में नहीं बिक रही थी, वह अब 50 लाख रुपए में बिक रही है।
हर सर्जिकल टूल के पीछे लॉजिक

वाजिद खान की यह पेंटिंग इन मेकिंग है। उन्होंने सभी टूल्स लॉजिक के साथ इस्तेमाल किए हैं। जैसे आंख उन्हीं टूल्स से बनाई है जो की आंख की सर्जरी में काम आते हैं।
Wajid Ali Khan artist Workshop
X
Wajid Ali Khan artist Workshop
Wajid Ali Khan artist Workshop
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..