• Hindi News
  • When Gajraj Stuck On The Road Of Corruption In Indoere

जब भ्रष्टाचार की सड़क पर फंस गया गजराज

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर । हाथी का पैर नहीं हिला..क्यों? इसलिए कि वह भ्रष्टाचार की सड़क पर पड़ गया था। हाथी और लोग परेशान। चार घंटे की मशक्कत के बाद हाथी सड़क से पार पा सका। डामर पता नहीं किस किस्म का था, वह हफ्तेभर बाद भी गीला ही रहा। लिपी-पुती इसी सड़क से गुरुवार दोपहर गजराज गुजरा। उसे महज सौ फीट के इस हिस्से को पार करने में सवा दो घंटे लग गए। वह एक पैर रखता तो वह वहीं चिपक जाता। गजराज उसे उठाता, तब तक दूसरे पैर चिपक जाते।
सुदामानगर के स्मृति गेट पर महीने भर पहले करीब नौ लाख से सीमेंट की सड़क बनाई गई थी। वह जल्दी ही दरक गई। धूल का गुबार लोगों के घर में घुसने लगा तो उन्होंने कमजोर सड़क की शिकायत नेताओं से की। आरोप भी लगाए कि सड़क बनाने में माल से ज्यादा कमीशन का ध्यान रखा गया है। नेताओं ने सीमेंट की सड़क को सुधारने के नाम पर हफ्तेभर पहले डामर लीप दिया।
हालत यह हो गई कि गजराज के पैर डामर से लथपथ हो गए और उसका आगे बढ़ना दुश्वार हो गया। महावत भी उतर गया। हाथी को जमीन पर लिटाया गया, रहवासियों ने गर्म पानी दिया, फिर हाथी के पैर से डामर निकाला गया। हाथी खड़ा हो गया, लेकिन सामने फिर वही डामर वाली सड़क थी। तय हुआ पैरों के नीचे बोरे (टाट) रखकर उसे आगे बढ़ाया जाए। तब जाकर सड़क पार हुई। हालांकि पार्षद निर्मला मोदी का कहना है कि सड़क अच्छी बनी थी। बनते समय लोगों ने गीली सड़क पर गाड़ियां रख दीं इसलिए खराब हो गई। हमें शिकायत मिली तो हमने डामर लगा दिया।
आगे तस्वीरों में देखिए कैसे सड़क पर फंसा हाथी और कैसी मुश्किल से निकला ..