पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • जीवन जीने के दो मार्ग, योग और भोग

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जीवन जीने के दो मार्ग, योग और भोग

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आचार्यों ने जीवन जीने के दो मार्ग बताए हैं। एक योग का और दूसरा भोग। भोग का मार्ग साधन संपन्न है और योग का साधना संपन्न है। हमें साधना संपन्न मार्ग पर चलकर जीवन का कल्याण करना चाहिए।

यह विचार पर्यूषण पर्व के सातवें दिन उत्तम तप धर्म पर प्रवचन देते हुए हैदराबाद से आए नितिन भैया जैन ने व्यक्त किए। उन्होंने कहा तप दोषों की निवृत्ति करना है। प्रवचन देते हुए अंशुल भैया ने कहा मानव जीवन का सार तप साधना में हैं, यह मानव सहज साध्य रूप से मिल जाती है। देश में जितने भी महापुरुष हुए हैं सभी ने तप धारण कर अपने जीवन को इतिहास बना दिया है। हमें तप को अंगीकार कर जीवन को धन्य करना चाहिए। समाज के सचिव सुनील जैन ने बताया पर्व में देवेंद्र जैन सराफ के पांच उपवास पूर्ण हुए।

पर्यूषण पर्व के दौरान प्रवचन देते नितिन भैया जैन।

वक्त की कीमत पहचानना जरूरी : पं. अत्रे

सिंगोट |
वक्त की गति बहुत तेज होती है। जो वक्त की जरूरतों को पूरा नहीं करता वक्त भी उससे अच्छा व्यवहार नहीं करता। यही काम कंस ने किया और उसे इसकी कीमत जान देकर चुकाना पड़ा। गांव के राधा-कृष्ण मंदिर में चल रही कथा में पं. गोपाल अत्रे ने यह उद्गार व्यक्त किए। उन्होंने कंस द्वारा वासुदेव एवं देवकी पर किए अत्याचार का मार्मिक वर्णन किया। उन्होंने कहा नुष्य के कर्म ही उसके भविष्य की रूपरेखा तय करते हैं।

धर्म-कर्म
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी मेहनत और परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होने वाला है। कोई शुभ समाचार मिलने से घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। धार्मिक कार्यों के प्रति भी रुझान बढ़ेगा। नेगेटिव- परंतु सफलता पा...

    और पढ़ें