पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 20 हजार के फाइनेंस पर लेता था 50 हजार रु., पीड़ित बोले केस दर्ज हो, अफसर बोले सबूत लाओ, तब करेंगे

20 हजार के फाइनेंस पर लेता था 50 हजार रु., पीड़ित बोले- केस दर्ज हो, अफसर बोले- सबूत लाओ, तब करेंगे

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
वाहन खरीदने के लिए 20 हजार रु. फाइनेंस के बदले 50 हजार रुपए लेने फिर चेक बाउंस कराकर न्यायालय में लगाने वाले फाइनेंसर के खिलाफ पांच पीड़ितों ने एएसपी से शिकायत कर केस दर्ज करने की मांग की। एएसपी ने सबूत मांगे तो पीड़ित सबूत नहीं दे पाए।

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शुक्रवार दोपहर कुछ लोग वाहन फाइनेंस कराने वाले बजरंग चौक निवासी कमलेश राठौर की शिकायत लेकर पहुंचे। उनके साथ अधिवक्ता भी थे। अधिवक्ता छाया शर्मा ने बताया कमलेश ने उनके क्लाइंट केशव चाचरिया निवासी चिकतलाई खालवा को वाहन खरीदने के लिए 20 हजार रुपए फाइनेंस किए थे, जिसके बदले उससे दो कोरे चेक लिए। केशव ने कुछ समय बाद सारे रुपए सूद समेत कमलेश को दे दिए। बदले में उसने कोरे चेक वापस नहीं किए और उसमें से एक पर 50 हजार की राशि भरकर बैंक में लगा दिया। चेक बाउंस हो गया।

जांच के बाद केस दर्ज करेंगे
सीएसपी एसएन तिवारी बोले- किसी के भी पास फाइनेंस की राशि लौटाने की रसीद व सबूत नहीं है। मामले की जांच कर रहे हैं। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई करेंगे।

चेक बाउंस के 20 प्रकरण
शिकायत करने वाले अपने साथ न्यायालय में चेक बाउंस के प्रकरणों की लिस्ट लेकर आए थे। जिसमें कमलेश ने करीब 20 लोगों के खिलाफ केस लगाए हैं।

इन्होंने की धोखाधड़ी की शिकायत
गणेशराव पिता अजाक राव निवासी जोशी नगर ने 20 हजार, दिनेश परदेशी मानसिंग मिल 15 हजार, विजय पटेल बजरंग चौक ने 1 लाख व अनुराग दुधे ने 25 हजार रुपए ब्याज पर लेने और चुका देने के बाद भी उनके कोरे चेक बाउंस कराकर न्यायालय में लगाने के आरोप लगाए। मामले में फाइनेंसर कमलेश राठौर से पुलिस ने पूछताछ की तो उसने फाइनेंस की राशि नहीं मिलने पर न्यायालय में प्रकरण लगाने की बात कही।

एएसपी महेंद्र तारणेकर से शिकायत करते पीड़ित।

धोखाधड़ी
खबरें और भी हैं...