• Hindi News
  • National
  • नाट्य महोत्सव : भीम ने कहा ब्राह्मण पुत्र को छोड़ मुझे भोजन के लिए स्वीकार करे

नाट्य महोत्सव : भीम ने कहा- ब्राह्मण पुत्र को छोड़ मुझे भोजन के लिए स्वीकार करे

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
खंडवा | कालिदास संस्कृत अकादमी मप्र संस्कृति परिषद, उज्जैन और जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार रात नाट्य महोत्सव शुरू हुआ। गौरीकुंज सभागृह में दो दिवसीय संस्कृत नाट्य महोत्सव के पहले दिन मध्यमव्यायोम की कलाकारों ने मंत्रमुग्ध कर देने वाली प्रस्तुति दी। नाटक में ब्राह्मण पुत्र को भोजन बनाने के लिए घटोत्कच्छ आगे बढ़ा तो भीम ने कहा उसे छोड़ दे। मुझसे युद्ध करो। हार जाऊ तो भोजन के मुझे स्वीकार करे। एक घंटे तक संस्कृत में संवाद हुए फिर भी लोगों की नजर मंच से नहीं हटी। रविवार को महोत्सव के दूसरे दिन विक्रमोर्वशम् नाटक की प्रस्तुति शाम 7 बजे होगी। - विस्तृत पढ़ें पेज 14 पर

खबरें और भी हैं...