पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • साढ़े 3 हजार रु. का न्यूमोकोकल टीका मुफ्त लगेगा

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

साढ़े 3 हजार रु. का न्यूमोकोकल टीका मुफ्त लगेगा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में जन्म से पांच साल के बच्चों में निमोनिया के संक्रमण से बचाव, मस्तिष्क ज्वर व कान के संक्रमण को अब रोका जा सकेगा। एक नया टीका न्यूमोकोकल अब बच्चों को लगेगा। 7 अप्रैल से साढ़े तीन हजार रुपए का टीका सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क लगेगा। इससे जिले के 16 प्रतिशत बच्चों की जान बच सकेंगी। फिलहाल निमोनिया से 50 से ज्यादा प्रतिशत बच्चों की मौत हो रही है। बचाव के िलए मंगलवार को कार्यशाला हुई।

शहर के निजी होटल में मंगलवार को कार्यशाला हुई। इसमें न्यूमोकोकल बैक्टिरिया से बचाव के लिए टीका लगाने का प्रशिक्षण दिया गया। प्रभारी जिला टीकाकरण अनुपम अत्रे ने टीकाकरण के बारे में जानकारियां दी। उन्होंने कहा न्यूमोकोकल कंजुगेट टीका बच्चों को जन्म से डेढ़ माह, साढ़े तीन माह एवं नौ माह के होने पर नियमित टीकाकरण के साथ ही विभाग लगाएगा। टीके के कारण जन्म से 5 वर्ष तक के बच्चों में निमोनिया से होने वाली 16 प्रतिशत मृत्यु से बचाव होगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन सर्विलेंस मेडिकल ऑफिसर डॉ. अभिषेक जैन, डॉ. भारती शेखावत ने कहा टीके लगने से शिशु मृत्यु दर में भी कमी आएगी। साथ ही न्यूमोकोकल, टीबी, पोलियो, कुकरखांसी, टिटनेस, गलघोंटू, हेपेटाइटिस, खसरा, निमोनिया, वायरल डायरिया जैसी 10 बीमारियों से सुरक्षित रखा जा सकेगा।

निमोनिया के संक्रमण से बचने के लिए दिया प्रशिक्षण, 7 अप्रैल से लगेगा, 16 प्रतिशत बच्चों की बचेगी जान
एक माह में 40 से ज्यादा निमोनिया पीड़ित
जिला अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. दिव्येश वर्मा ने कहा जिला अस्पताल में भर्ती होने वाले 40 से ज्यादा बच्चे निमोनिया पीड़ित होते हैं। टीके के कारण अब उनका बीमारियों से बचाव होगा। उन्होंने कहा न्यूमोकोकल संक्रमण बीमारी है। यहां स्ट्रैपटोकोकस निमोनिया(एस निमोनिया) के कारण होती है। इसमें सांस नली या संपर्क में आने से होती है। संक्रमण से दिमागी बुखार, गर्दन में अकड़न व मानसिक भ्रम के साथ होता है। इससे सुनाई न देना अथवा मौत भी हो सकती है। निमोनिया के कारण बुखार, सांस फूलना, ठंड लगना, बलगमयुक्त खांसी होना लक्षण है। इससे मौत हो सकती है। साथ ही संक्रमण से बुखार स्त्राव व बिना स्त्राव के कान दर्द के साथ होता है। बार-बार होने से सुनाई देना बंद हो सकता है। 2008 में विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के मुताबिक न्यूमोकोकल संक्रमण से होने वाली बीमारियों के शिकार आधे बच्चे भारत, चीन, पाकिस्तान, इंडोनिशिया, नाइजीरिया के थे। यह टीका मैनिंजाइटिस, बैक्टिरेमिक निमोनिया और सेप्टिसीमिया जैसे संक्रमण से बचाव करेगा।

प्रभारी जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अनुपम अत्रे जानकारियां देते हुए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें