पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • छतों से टपक रहा बारिश का पानी, एक कमरे में बैठ रहे 3 कक्षाओं के विद्यार्थी

छतों से टपक रहा बारिश का पानी, एक कमरे में बैठ रहे 3 कक्षाओं के विद्यार्थी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इधर, पैचवर्क के नाम पर मिट्टी डाल रही नपा
भास्कर संवाददाता | पीपलपानी/देड़तलाई

ग्राम पंचायत मोंद्रा, देड़तलाई में प्राथमिक, माध्यमिक और हाईस्कूल के हालात खराब हंै। स्कूलों के भवन जर्जर होकर बारिश में बूंद-बूंद टपक रहा। शिक्षकों के अभाव में विद्यार्थी छतों पर चढ़कर खेल रहे है। मोंद्रा माध्यमिक स्कूल के एक कमरे में तीन कक्षा के विद्यार्थी बैठ रहे है। इससे उनकी पढ़ाई प्रभावित हो रही है। देड़तलाई स्कूल में असमाजिक तत्वों ने गंदगी कर रखी है।

मोंद्रा की प्राथमिक स्कूल भी इसी तरह बदहाल है। कमरों में बारिश का पानी टपकता है। भवन पानी से भर जाता है इसलिए छुट्टी होने से पहले ही शिक्षक विद्यार्थियों को घर भेज देते हैं। स्कूल का समय सुबह 10.30 से शाम 4.30 का है। ज्यादा बारिश होने पर पानी भरने से विद्यार्थी नहीं आते हैं। जो आते है उन्हें शिक्षक वापस घर भेज देते हैं। स्कूल में 2 बजे के बाद ताले लटके नजर आते हैं। शिक्षक भी समय पर नहीं आते। स्कूल में कुल 5 शिक्षक हैं लेकिन स्कूल के समय सिर्फ दो ही दिखाई देते हैं। छात्र-छात्रा 2 बजे के बाद स्कूल की कक्षा में बैठने की बजाय छत पर चढ़ जाते हैं। प्रबंधन इस और ध्यान नहीं दे रहा है। पालकों ने बताया बच्चों को हम घर से पढ़ने भेजते हैं लेकिन कई बार स्कूल में नहीं मिलते, खेलने के लिए तो कई छतों पर चढ़ जाते हैं। डांट कर उन्हें कई बार नीचे उतारा, शिक्षक इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। पालकों ने कहा यदि बच्चे छत से गिरकर घायल होते हैं तो इसका जिम्मेदार कौन होगा।

स्कूल 150 विद्यार्थी हैं। स्कूल समय पर प्रधान पाठक राजकुमार श्रीमाली नहीं मिले तो पालकों ने उनके मोबाइल पर संपर्क कर शिकायत की। उन्होंने मैं अभी तुकईथड़ में बाजार का सामान लेने आया हूं बच्चों को कई बार समझाया लेकिन नहीं मानते। ग्राम मोंद्रा की माध्यमिक स्कूल का भवन जर्जर हो गया है। विद्यार्थियों ने स्कूल आना बंद कर दिया है। स्कूल में कुल 170 विद्यार्थी पढ़ते है लेकिन करीब आधे ही स्कूल आते हैं। स्कूल में पर्याप्त शिक्षक भी नहीं है। विद्यार्थियों ने बताया स्कूल भवन जर्जर हो चुका है। बैठने की भी जगह नहीं मिल पाती है। बारिश में छत से पानी टपकता है। पर्याप्त शिक्षक नहीं है इसलिए पढ़ाई भी नहीं हो पाती। हमारे कई सहपाठियों ने स्कूल आना बंद कर दिया है। कोर्स समय पर नहीं चल रहा है।

इधर स्कूल परिसर बना शराबियों का अड्‌डा

ग्राम देड़तलाई की शासकीय बालक माध्यमिक स्कूल भवन परिसर में बने चबुतरे को असमाजिक तत्वों ने शराब का अड्‌डा बना लिया है। स्कूल खत्म होने के बाद शाम को शराबी यहां बैठकर सिगरेट, शराब, गुटका सहित अन्य प्रकार के नशे करते हैं। शराब की खाली बोतलों को तोड़कर भवन के अंदर फेंक देते हैं। टूटे कांच पैरों में चुभने से विद्यार्थी घायल हो जाते हैं। बदमाशों ने चबूतरे को तोड़ भी दिया है। कई सालों से यहां यहीं हालात बने हुए हैं। समस्या को लेकर प्रधान पाठक साबूलाल साखे ने कई बार पंचायत सदस्यों को शिकायत की, स्थिति से अवगत भी कराया लेकिन पंचायत इस पर ध्यान नहीं दे रही है। सरपंच गंगाराम मार्कों का कहना है असामाजिक तत्वों के खिलाफ लिखित आवेदन देड़तलाई चौकी में देंगे।

ग्राम पंचायत मोंद्रा में प्राथमिक, माध्यमिक स्कूल के बच्चों को जमीन पर बैठया जाता है।

ग्राम मोंद्रा की प्राथमिक स्कूल के विद्यार्थी स्कूल की छत पर चढ़कर खेलते हैं।

खबरें और भी हैं...