पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के लिए बनो रानी लक्ष्मीबाई

महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के लिए बनो रानी लक्ष्मीबाई

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
देशमें महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार शोषण के लिए हमें रानी लक्ष्मीबाई बनना है। महिलाओं को अपना सबल दिखाना चाहिए। किसी भी काम में हम कमजोर नहीं है। यह बात गुरुवार गायत्री मंदिर में विश्व हिंदू परिषद की दुर्गा वाहिनी मातृ शक्ति की बैठक में क्षेत्रीय संयोजिका माला दीदी ठाकुर ने कही। उन्होंने कहा दुर्गा वाहिनी मातृ शक्ति की कार्यकर्ता अत्याचार शोषण के खिलाफ लड़े। माला दीदी ठाकुर ने कहा 16 नवंबर को रानी लक्ष्मीबाई जयंती को वीरागंना दिवस के रूप में मनाया जाएग इसके चलते चिमनबाग मैदान पर शक्ति संगम होगा। प्रांत से 50 हजार महिलाएं शामिल होगी। इस दौरान बजरंग दल के प्रांत संयोजक दीपक कानूनगो, दुर्गा वाहिनी की जिला संयोजिका वर्षा अग्रवाल, जिला सह-संयोजिका रिचा नागर, नगर संयोजिका प्रतिमा कुमरावत, मातृ शक्ति जिला संयोजिका वंदना कुमरावत, उमा शर्मा, संगीता मिश्रा, प्रियंका वानखेड़े, दीपाली मंडलोई, वंदना चौहान, बजरंग दल के जिला मंत्री नंदू कुमरावत, जिला संयोजक मनोज वर्मा, संदीप राठौड़, राधेश्याम रावत, विवेक तोमर, अजय ठाकुर आदि मौजूद थे।

माला दीदी ठाकुर दीपक काननूनो कार्यक्रम की जानकारी देते हुए।

माला दीदी ने कहा हिंदू समाज बढ़ती हुई चुनौतियां का मुकाबला करें। लव जेहाद, धर्म परिवर्तन, संस्कार, हिंदू समाज में संगठन का महत्व आदि बातों का हमें ध्यान रखना है। इसे लेकर ही हमारा शक्ति संगम हो रहा है। उन्होंने कहा हमें भूख भी लगती है तो पहली रोटी गाय को देते हैं। यह हमारी संस्कृति है।

हिंदू समाज चुनौतियों का करें मुकाबला