पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • नर्मदा का जलस्तर नहीं बढ़ा तो शहर के लोगों को एक दिन छोड़ बंटेगा पानी

नर्मदा का जलस्तर नहीं बढ़ा तो शहर के लोगों को एक दिन छोड़ बंटेगा पानी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नर्मदा का जलस्तर कम हो गया है। इससे सबसे ज्यादा परेशानी शहरवासियों को उठाना पड़ रही है। क्योंकि शहर की पेयजल व्यवस्था नर्मदा के जलस्तर पर निर्भर है। गुरुवार को नर्मदा में जलस्तर कम होने से आधे शहर में पानी नहीं बंट पाया था। यही हाल शुक्रवार को भी देखने को मिला।

नपा जलप्रदाय के नरेंद्र सोनी ने बताया गुरूवार को नर्मदा का जलस्तर कम हो गया था। इससे कारण आधे शहर में पानी नहीं बांटा गया था। शुक्रवार को भी शहर में रहवासियों को समय पर पानी नहीं मिल पाया था। नरेंद्र सोनी ने बताया अगर नर्मदा का जलस्तर नहीं बढ़ तो शनिवार से एक दिन छोड़ेकर पानी दिया जाएगा। इसके लिए नपा द्वारा शहर में मुनादी भी कराई जा रही है। नर्मदा में जलस्तर कम होने पर हर बार यह स्थिति बनती हैै लेकिन शहरवासी जलसंकट से अंजान रहते हैं। नगर पालिका ने शुक्रवार को शहर में टैंकरों से पानी बांटा है। बावजूद इसके पानी की पूर्ति नहीं हो सकी है। फिल्टर प्लांट में भी पानी कम हो गया है। जो पानी बचा है वह टैंकरों के जरिए लोगों तक पहुंचाया जाएगा।

इन क्षेत्रों में फिल्टर प्लांट से सप्लाय होता है पानी
शहर के खरगोन बायपास रोड स्थित कुछ क्षेत्रों में फिल्टर प्लांट से पानी सप्लाय किया जाता है। नपा अफसरों ने बताया गायत्री मंदिर क्षेत्र, आदिनाथ नगर, वैष्णव कॉलोनी, दरबार कॉलोनी, गृह निर्माण कॉलोनी, संजय नगर, होल्कर कॉलोनी व भोगांवा रोड पर फिल्टर प्लांट से पानी सप्लाय होता है।

नपा ने शहर में कराई मुनादी
गहराए जलसंकट की स्थिति से निपटने के लिए नगर पालिका ने मुनादी भी कराई है। इसके जरिए रहवासियों को सूचित किया जा रहा है कि नर्मदा में जलस्तर कम होने पर जलप्रदाय समय पर नहीं होगा।

नर्मदा का जलस्तर तय करेगा आज की स्थिति
जलप्रदाय के अफसरों ने बताया शुक्रवार रात को नर्मदा में जलस्तर बढ़ने पर ही शनिवार की स्थिति तय की जाएगी। अगर पानी कम रहा तो टैंकरों का सहारा लिया जाएगा। इसके लिए जलप्रदाय के समय में भी कटौती की गई है। जहां 15 मिनट पानी दिया जाता था वहां पर 10 मिनट पानी दिया जाएगा।

ऐसे बंटता है पानी
अधिकारी पानी की टंकी-9 लाख लीटर-बाहेती कॉलोनी, पंडित कॉलोनी, सोलंकी कॉलोनी, कासम कॉलोनी, जवाहर मार्ग, खरगोन रोड।

चांदनीपुरा-5 लाख लीटर-ढ़ाेली मोहल्ला, चांदनीपुरा, भाेगांवा रोड।

टेकड़ी स्कूल-पुरानी व नई टंकी-9 लाख लीटर-वार्ड 2 से 10(आधा)।

रूपखेड़ा वाटर वर्क्स-6 लाख लीटर-वार्ड 11, 12, 13 व कुछ हिस्सा 10 का।

अभी ऐसी है शहर की पेयजल व्यवस्था
45 हजार शहर की आबादी

70 लाख लीटर पानी की रोज जरूरत।

40 लाख लीटर पानी फिल्टर वाला बंट रहा है।

25 लाख लीटर पानी अन्य विकल्पों से बंट रहा है।

यह है पेयजल स्त्रोत
4500 नल कनेक्शन।

05 पानी की टंकियां।

06 कुओं से ले रहे हैं पानी।

नर्मदा का जलस्तर कम होने से फिल्टर प्लांट में पानी हुआ कम।

खबरें और भी हैं...