पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • दिंडी यात्रा निकली, जगह जगह बनाई रंगोली, दीप जलाए

दिंडी यात्रा निकली, जगह-जगह बनाई रंगोली, दीप जलाए

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता| अंबाडा/निंबोला/डोईफोड़िया /शाहपुर

गुरुवारको ग्रामीण क्षेत्रों में कार्तिक मास के समापन के साथ वारकरी संप्रदाय द्वारा निकाली जा रही दिंडी यात्रा का समापन किया गया। श्रद्धालुओं ने दिंडी और कलश यात्रा गांव के विभिन्न मार्गों से निकाली। दिंडी के बाद महाप्रसादी का वितरण किया गया।

ग्राम अंबाड़ा के देवरी में कार्तिक मास के समापन पर विट्‌ठल मंदिर से सुबह 4 बजे दिंडी निकाली गई। स्वागत के लिए जगह-जगह रंगोली बनाई और दीप जलाए। लक्ष्मण काशीनाथ चौहान, सीताराम सोनवणे, पवन पाटील, पुंडलिक वामन, दिनकर युवराज, रवींद्र कापसे ने बताया दिंडी के बाद महाप्रसादी का वितरण किया गया। निंबोला में श्री रामभक्त मंडल द्वारा शाम 6 बजे श्रीराम मंदिर से दिंडी निकाली गई। जो गांव के विभिन्न मार्गो से गुजरी।

डोइफोड़िया में कार्तिक मास की शुरुअात से वारकरी समाज द्वारा सुबह 4 बजे गजानन मंदिर से दिंडी यात्रा निकाली जा रही थी। गुरुवार को समापन पर शाम 7 बजे दिंडी निकाली गई। शाहपुर में भी वारकरी संप्रदाय द्वारा दिंडी यात्रा का समापन किया गया। हर दिन घरों के सामने दीपक जलाकर, रंगोली सजाकर स्वागत किया गया। नगर के लोगों ने दिंडी में शामिल होने वाले वारकरी संप्रदाय के लोगो के पैर छूकर आशीर्वाद लिया। समापन पर सुबह 4 से 9 बजे तक वारकरी संप्रदाय के लोगों ने नगर में घूमकर भगवान पांडूरंग के भजन गए। दिंडी में हरिभाऊ चौधरी, सुधाकर सोनवणे, कैलाश बोदड़े, महेंद्र बोदड़े, प्रल्हाद पाटील, विट्‌ठल देशमुख, राजाराम येवले, नगीन चौधरी मौजूद थे।

शाहपुर में वारकरी समाज द्वारा कार्तिक मास की समाप्ति पर निकाली दिंडी यात्रा।

सिर पर कलश लिए निकली यात्रा

नेपानगर | कार्तिकमास के समापन पर अंबाडा के विट्ठल मंदिर में जागरण और काकड़ आरती के साथ कलश यात्रा, दिंडी यात्रा निकाली गई। गुरुवार दोपहर 12 बजे से मंदिर परिसर में भंडारे कराया गया। इसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसादी ग्रहण की। इस दौरान अरुण ससाने, राजू काटे, अनिल चौधरी, पंकज तायड़े, सुरेश कचरे, बंटी चौधरी, गणेश पाटील सहित अन्य ने सेवा दी।