--Advertisement--

3 साल बाद भी नहीं मिला जमीन का मुआवजा

भास्कर संवाददाता | शुजालपुर निर्माण के तीन साल बाद भी सड़क में गई जमीन का मुआवजा नहीं मिला तो किसान लोक निर्माण...

Dainik Bhaskar

Jan 10, 2018, 10:55 AM IST
भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

निर्माण के तीन साल बाद भी सड़क में गई जमीन का मुआवजा नहीं मिला तो किसान लोक निर्माण विभाग मंत्री के पास पहुंच गए। यहां कलेक्टर-एसडीएम द्वारा मामले में गंभीरता नहीं दिखाने की पीड़ा भी सुनाई। किसानों की जमीन अरनियाकलां से कालापीपल सड़क निर्माण में अधिगृहित की गई है।

दरअसल लोक निर्माण विभाग द्वारा वर्ष 2012-13 में अरनियाकलां से कालापीपल तक 16 किमी की सड़क बनाई गई। इसमें अरनियाकलां, निपानिया हिसामुद्दीन, अकोदी, सिलोदा के किसानों की निजी भूमि लोनिवि ने अधिगृहित की थी। चार-पांच साल बीतने के बाद भी किसानों को मुआवजा नहीं मिलने से गुस्साए किसान ने मंगलवार को प्रदेश के लोक निर्माण विभाग मंत्री रामपालसिंह राजपूत के पास पहुंचे और ज्ञापन सौंप मुआवजा की मांग की। साथ ही किसानों ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नाम मुख्यमंत्री निवास पर ज्ञापन सौंपा।

अलग-अलग गांव के 120 से ज्यादा किसान प्रभावित

किसानों द्वारा सौंपे गए ज्ञापन में बताया कि कई बार प्रशासन के दरवाजे खटखटाए, लेकिन कलेक्टर-एसडीएम ने इस तरफ ध्यान नहीं दिया। मंत्री रामपालसिंह ने किसानों से चर्चा के दौरान जल्द ही मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया। किसानों ने बताया 120 से ज्यादा किसानों की जमीन को लोनिवि ने अधिगृहित किया है। ज्ञापन सौंपते समय मनोहरसिंह राजपूत, भगवतसिंह राजपूत, हिंदूसिंह राजपूत, नगीनसिंह राजपूत, अर्जुन सोनानिया, विनोद सोनानिया, कैलाश राजपूत, संदीप गेहलोत, भगवतसिंह गेहलोत, संतोषसिंह सिसौदिया आदि मौजूद थे।

भोपाल में पीड़ा सुनाने पहुंचे शुजालपुर के ग्रामीण।

मुसीबत

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..