पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • अस्पताल परिसर में आधा घंटे तक दर्द से तड़पती रही प्रसूता,ऑटो में हुआ प्रसव

अस्पताल परिसर में आधा घंटे तक दर्द से तड़पती रही प्रसूता,ऑटो में हुआ प्रसव

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फोन लगाने के बावजूद नहीं पहुंची 108 एंबुलेंस।

भास्करसंवाददाता|भिंड

जिलाअस्पताल परिसर में गुरुवार की शाम पांच बजे एक प्रसूता ऑटो में करीब आधा घंटे दर्द से तड़पती रही। प्रसूता का पति डॉक्टर नर्स से गुहार लगाता रहा, लेकिन कोई नहीं पहुंचा। करीब आधा घंटे बाद महिला ने ऑटो में ही बच्चे को जन्म दे दिया। महिला के पति का कहना है कि उसने पहले घर से 108 एंबुलेंस को भी फोन किया, लेकिन जब एंबुलेंस नहीं आई, तो वह अपनी प|ी को ऑटो में लेकर अस्पताल पहुंचा।यहां स्टाफ ही नहीं था।

प्रसूता सरला देवी प|ी मनोज यादव (25) निवासी सरस्वती नगर ने गुरुवार की शाम को पांच बजे अस्पताल पहुंचे। आधे घंटे तक उसका पति मनोज यादव अस्पताल में डॉक्टर नर्सों से गुहार लगाता रहा कि उसकी प|ी को दर्द हो रहा है, उसे एडमिट कर लो, लेकिन उसकी किसी ने नहीं सुनी, आधे घंटे बाद प्रसूता ने बेटे को ऑटो में ही जन्म दे दिया। इस घटना से परिजन ने अस्पताल प्रशासन पर आरोप भी लगाए है। इस संबंध में भिंड सीएमएचओ डॉ. राकेश शर्मा का कहना है कि जिला अस्पताल परिसर में ऑटो में बच्चे का जन्म हुआ है, इसकी जानकारी लेता हूं, तभी कुछ कहूंगा। वहीं सिविल सर्जन डॉ. केके दीक्षित का ने बताया कि जिला अस्पताल परिसर में ऑटो में महिला को प्रसव हो गया है, इसकी जानकारी लेता हूं।

एंबुलेंस नहीं पहुंची तो बुलाया ऑटो

प्रसूताके पति मनोज यादव का कहना है कि उसकी प|ी के पेट में दर्द उठा तो उसने 108 पर फोन लगाया, लेकिन एंबुलेस उसके घर नहीं पहुंची, आनन-फानन में वह ऑटो में अपनी प|ी को लेकर जिला अस्पताल पहुंचा, यहां भी डॉक्टरों ने उसे एडमिट नहीं किया, डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से बेटे का जन्म ऑटो में हो गया। अगर कोई घटना होती, तो इसकी जिम्मेदारी अस्पताल प्रबंधन की होती।

जिला अस्पताल में ऑटो में बच्चे के जन्म के बाद प्रसूता को स्ट्रेचर पर ले जाते हुए।