पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • आधी रात काे जन्मे गुरुनानक, चली आतिशबाजी, हुए लंगर

आधी रात काे जन्मे गुरुनानक, चली आतिशबाजी, हुए लंगर

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुरुनानक जयंती पर आयोजित हुए कई कार्यक्रम, गुरुद्वारों में चलता रहा लंगर होते रहे कीर्तन

चला गुरु का अटूट लंगर

{सुबह का नाश्ता गुरुद्वारों में ही हुआ दोपहर में भजन कीर्तन होते रहे। वहीं दोपहर तीन से शाम पांच बजे तक अटूट लंगर चले।

{ रात 12 बजे गुरुनानक का जन्म हुआ। गुरुद्वारों पर आतिशबाजी चलाकर खुशी मनाई गई।

{ सुबह चार बजे सिख समुदाय के लोग गुरुद्वारों पर पहुंचे, यहां सफाई की।

{ इसके बाद अल सुबह चार बजे सिख समुदाय द्वारा प्रभात फेरी निकाली गई।

{ शाम पांच बजे के बाद भजन कीर्तन और अरदास का आयोजन किया गया।

गोहद में प्रभात फेरी निकालते हुए सिख समुदाय के लोग।

सिख समाज द्वारा लोगों के लिए लगाया गया नाश्ते का स्टॉल।