• Hindi News
  • National
  • केन में बिक रहे पानी की शुद्घता की गारंटी नहीं

केन में बिक रहे पानी की शुद्घता की गारंटी नहीं

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मिनरल वाटर के नाम पर शहर में लोगों के साथ धोखाधड़ी की जा रही है। शहर में करीब 12 आरओ (रिवर्स ओस्मोसिस वाटर) प्लांट संचालित हो रहे हैं। हर दिन 14 हजार से अधिक आरओ पानी से भरी कैन घर, सरकारी और प्राइवेट ऑफिस और बाजार में दुकानों पर सप्लाई हो रही हैं,जिससे हर महीने करीब 22-24 लाख का कारोबार हो रहा है।

लोग इस पानी को शुद्ध मानकर पी रहे हैं, लेकिन इसकी शुद्धता की कोई गारंटी नहीं है। कुछ समय पहले जांच के दौरान पानी में बैक्टीरिया मिले थे। उसके बाद भी प्लांट संचालकों के खिलाफ संबंधित विभागों के अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की। गौरतलब है कि शहर में 20 लीटर वाली पानी की कैन 20 रुपए रोज पर घर और प्रतिष्ठान तक पहुंचाई जाती है। जहां तक पानी की गुणवत्ता का सवाल है तो इस बारे में यहां कोई भी कुछ बताने की स्थिति में नहीं है। नपा और स्वास्थ्य विभाग के पास पानी की जांच की कोई सुविधा नहीं हैं। पीएचई में बोरिंग के पानी की जांच तो होती है, लेकिन मिनरल वाटर के नाम पर बिक रहे आरओ या फिल्टर वाटर की जांच नहीं होती।

इसे जांच के लिए भोपाल भेजना पड़ता है। आप खुद सोच सकते हैं कि घर बैठे 20 रुपए में मिलने वाली मिनरल वाटर की कैन की गुणवत्ता कैसी होगी। शहर में पानी की स्थिति पर नजर डालें तो खाद्य एवं औषधि नियंत्रक से जुड़े अधिकारी कहते हैं कि भिंड के पानी में कहीं आर्सेनिक की मात्रा ज्यादा है, तो कही फ्लोराइड। यह दोनों तत्व मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं।

क्या है आरओ सिस्टम
रसायन शास्त्र के प्रो. संजीव सेंगर ने बताया कि आरओ सिस्टम (रिवर्स ओस्मोसिस वाटर) के माध्यम से साधारण पानी को शुद्ध बनाया जाता है। यह पानी से हानिकारक तत्व आर्सेनिक,फ्लोराइड, क्लोरीन, लेड को अलग करता है। लेकिन उसके बाद भी यह तत्व कुछ मात्रा में शेष रह जाते हैं। अगर यह तत्व बचते है तो उनकी मात्रा में टीडीएस 500 मिली ग्राम प्रति लीटर, नाइट्रेट 45 मिली ग्राम प्रति लीटर, फ्लोराइड डेढ़ मिलीग्राम प्रतिलीटर, पीएच: पीने योग्य पानी में 6.5 से 8.5 पीएच प्रति लीटर, टीएचएन 600 मिली ग्राम प्रति लीटर टोटल हार्ड वाटर से अधिक नहीं होना चाहिए। वहीं सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम, सहित आदि को सुरक्षित रखता है। यह सिस्टम पानी को पांच चरणों में साफ करता है और उसे गंदगी, धूल, बैक्टीरिया आदि से मुक्त कर शुद्ध व मीठा बनाता है।

शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी
आरओ पानी को लेकर मेरे पास कोई शिकायत नहीं आई है। अगर इस संबंध में कोई शिकायत आती है तो कार्रवाई की जाएगी। संतोष तिवारी, एसडीएम भिंड

गड़बड़ी
खबरें और भी हैं...