• Hindi News
  • National
  • नेपा लिमिटेड के 350 पेंशनर्स के आधार नंबर बैंक खातों से लिंक

नेपा लिमिटेड के 350 पेंशनर्स के आधार नंबर बैंक खातों से लिंक

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बुधवार को नेपा ऑडिटोरियम में नेपा लिमिटेड के पेंशनधारियों के आधार कार्ड उनके बैंक खातों से लिंक किए गए। यह कवायद पेंशनर्स को ऑनलाइन सुविधाएं देने के लिए हो रही है। नेपा लिमिटेड के पेंशनर्स को अब ऑनलाइन जीवंत प्रमाण पत्र देना होंगे। दो दिनी कैंप के पहले दिन 350 पेंशनर्स के आधार नंबर बैंक खातों से लिंक किए गए।

पेंशनधारियों को अब तक कागजी कार्रवाई करनी पड़ रही थी। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत ऑनलाइन सुविधा देने के लिए इंदौर के ईपीएफ विभाग यह कैंप लगा रहा है। इसमें सभी से बैंक पासबुक और आधार कार्ड की फोटो काॅपी लेकर ऑनलाइन पंजीयन किया जा रहा है बुधवार को कैंप के दौरान कई पेंशनधारी समस्याएं लेकर भी पहुंचे। अफसरों ने समस्याओं को सुनकर इसका निराकरण किया। कई समस्याओं पर आश्वासन दिया।

ईपीएफ विभाग इंदौर के इन्फोर्समेंट अफसर एस सोनवणे ने बताया विभाग द्वारा नेपा लिमिटेड से सेवानिवृत्त और स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने वाले कर्मचारी जिन्हें कंपनी से पेंशन मिलती है उनके खाता नंबरों से आधार नंबर लिंक कर ऑनलाइन कर पंजीयन किया जा रहा है। इस सुविधा से उन्हें हर साल जीवंत प्रमाण पत्र देने की परेशानी खत्म हो जाएगी।

ऑनलाइन पंजीयन के लिए नेपा ऑडिटोरियम में पहुंचे पेंशनर्स।

पेंशनर्स ऑनलाइन अपने जीवंत होने का प्रमाण पत्र सबमिट कर सकेंगे
पेंशनधारी बैंकों में जाकर अंगूठा लगाने से ऑनलाइन अपने जीवंत होने का प्रमाण पत्र सबमिट कर सकेंगे। इसमें जीएस पाल सेक्शन सुपरवाइजर, विनोद गौर सोशल सिक्यूरिटी सहायक सुनिल गाठिया सहायक काम कर रहे हैं। सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक कैंप लगा। इसमें नगर और आसपास के गांव से आए 350 से अधिक पेंशनर्स ने पंजीयन करवाया।

बचे लोगों के लिए घर जाएंगे कर्मचारी
एस सोनवणे ने बताया दो दिनों तक कर्मचारी ऑनलाइन पंजीयन करेंगे। इसके बाद भी अगर पेंशनर्स बचते है तो उनकी प्रक्रिया पूरी करने के लिए नेपा लिमिटेड के एडमिन कार्यालय में कर्मचारियों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। कर्मचारी पेंशनर्स के निवास पर पहुंचकर पंजीयन करवाएंगे। इससे किसी भी पेंशनर्स को परेशानी नहीं होगी। उन्होंने सभी पेंशनर्स को अपने दस्तावेज लेकर कैंप में पहुंचने के लिए आग्रह किया।

2 हजार नेपा लिमिटेड के पेंशनर्स
नेपा लिमिटेड से जुड़े 2 हजार से अधिक पेंशनर्स है, जो नेपानगर, बुरहानपुर, इंदौर सहित आसपास के शहरों में है। पेंशनर्स ने बताया कागजी प्रक्रिया में कई बार पेंशन मिलने में देरी होती थी। ऑनलाइन पंजीयन हो जाने से थंब करने पर यह प्रमाणित हो जाएगा कि हम जीवित है। इससे समय पर पेंशन मिलेगी। खासकर अधिक उम्र के पेंशनधारियों को सुविधा होगी। सभी ने पहुंचकर पंजीयन करवाने चाहिए। इससे उन्हें परेशान नहीं होना पड़ेगा।

खबरें और भी हैं...