• Hindi News
  • National
  • टेक्सटाइल संचालकों से मांगा प्रति लूम 500 रु.

टेक्सटाइल संचालकों से मांगा प्रति लूम 500 रु.

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
टेक्सटाइल संचालकों के विरोध में पावरलूम बुनकर, मजदूर संगठन दो दिन में बुलाएगा मीटिंग

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

वस्तु एवं सेवाकर के विरोध में टेक्सटाइल संचालकों ने छोटे पावरलूम संचालकों की रोजी-रोटी पर संकट खड़ा कर दिया है। करीब 15 दिन से बुनकरों को कपड़ा बुनाई के लिए बीम, कोन नहीं दिया जा रहा है। ऐसे में चार, छह और आठ लूम संचालक के घर बिजली बिल पहुंच गया है। कुछ के कारखानों की बिजली कंपनी ने कनेक्शन काट दिया है। विरोध में बुनकर, मजदूर संगठन दो दिन में मीटिंग बुलाएगा। संगठन जिलाध्यक्ष ने टेक्सटाइल संचालकों से 500 रुपए प्रति लूम के मान से हर्जाना की मांग की। ऐसा नहीं करने पर संचालकों के विरोध में बुनकर, मजदूर खड़े हो जाएंगे।

बुनकर पावरलूम बुनकर, मजदूर संगठन जिलाध्यक्ष एडवोकेट रियाज अहमद अंसारी ने कहा शहर में 20 हजार छोटे-बड़े बुनकर हैँ। इनसे जुड़कर 75 हजार से अधिक मजदूर रोज मजदूरी कर परिवार का पालन-पोषण करते हैं। ईद पर्व के बाद से टेक्सटाइल संचालकों ने बीम, कोना देना बंद कर दिया। जितना माल था बुनकरों ने कपड़ा बुनकर रख लिया, टेक्सटाइल संचालकों को कच्चा माल देना बंद नहीं करना चाहिए। जीएसटी से छोटे बुनकरों का कोई संबंध नहीं है। इसमें बुनकर जबरन क्यों पीसा जा रहा है। उन्हें बीम, कोन नहीं देने का निर्णय बदलना होगा। बुनकर बिजली बिल की व्यवस्था नहीं कर पा रहे हैं, कुछ के तो कनेक्शन काट दिए गए। हम दो दिन में बुनकराें की मीटिंग लेकर आगे की रणनीति तय करेंगे।

शुक्रवार को टेक्सटाइल, यार्न ऑफिस, साइजिंग, प्रोसेस और अधिकांश पावरलूम कारखानों पर ताला जड़ा रहा। हड़ताल के चौथे दिन भी मजदूर बेरोजगारों की तरह भटकते रहे। किसी अन्य काम में बेरोजगारों को मजदूरी नहीं मिली। कारोबारी अपने घरों में बैठकर अगली रणनीति पर विचार कर रहे हैं। बुरहानपुर टेक्सटाइल एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सचिव को चुना जाएगा। इसके लिए एसोसिएशन के 21 सदस्यों में मंथन शुरू हो गया है।

खबरें और भी हैं...