पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • पैलेस की सक्रियता भाजपा के लिए मुसीबत

पैलेस की सक्रियता भाजपा के लिए मुसीबत

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जनमत| काॅलोनियोंमें पाइप लाइन नहीं, शहर की सड़कें खराब, स्ट्रीट लाइट बंद जैसे कई बिंदु होंगे प्रत्याशियों पर आरोप-प्रत्यारोपण की वजह

कार्यालय संवाददाता | छतरपुर

गुलाबीठंड की दस्तक के साथ ही शिल्प तीर्थ खजुराहो में जिस तरह ठंड के साथ पर्यटक बढ़ रहे हैं वैसे ही नगरीय निकाय चुनाव की तारीख तय होने के साथ ही चुनावी सरगर्मी भी बढ़ गई है। भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों के से अनेक दावेदार सामने आएं हैं। छतरपुर रियासत के पूर्व राजकुमार और कांग्रेस विधायक विक्रम सिंह नातीराजा की प|ी का चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है। इससे यह सीट भाजपा के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गई है। भाजपा यहां उम्मीदवार चयन में बेहद गंभीरता बरत रही है।

यह हैं मुददे

खजुराहोविश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल होने के बाद भी नगरीय क्षेत्र में मूलभूत सुविधाओं का आभाव है।खजुराहो के लोगों की सभी बड़ी समस्या पेयजल की दिक्कत है। यही इस चुनाव का सबसे बड़ा मुददा रहने वाला है। यहां भाजपा और कांग्रेस दोनों के नगर पंचायत अध्यक्ष रह चुके हैं लेकिन इस समस्या पर अब तक किसी ने ध्यान नहीं दिया है। यहां विभिन्न कालोनियों में पेयजल की नल लाइन ही नहीं है। इससे के साथ उखड़ी सड़कों से भी लोग परेशान हैं। हाल ही में किए गए फुटपाथ निर्माण में घटिया काम भी चुनावी मुददा बनेगा।

कांग्रेस

खजुराहोराजनगर विधानसभा क्षेत्र में आता है। यहां से पिछले दो बार से कांग्रेस के विक्रम सिंह विधायक हैं।वे खजुराहो नगर पंचायत अध्यक्ष भी रहे हैं। नगर पंचायत महिला सामान्य आरक्षित होने से यहां से विधायक नातीराजा अपनी प|ी कविता सिंह को चुनाव लड़ाने की पूरी तैयारी में हैं। इसके साथ कांग्रेस से ट्रेवल्स व्यवसायी कपिल प्रताप सिंह की प|ी डॉ. कविता सिंह बुंदेला, गीता शर्मा भी दावेदार हैं। इसके साथ पूर्व में नपं अध्यक्ष रह चुकी केशर बाई पांडेय अब कांग्रेस से टिकट की दावेदारी कर रही हैं।

भाजपा

भाजपासे नगर पंचायत अध्यक्ष के लिए मजबूत प्रत्याशी की तलाश पहले से ही जारी थी। लेकिन कांग्रेस से नातीराजा की प|ी की दावेदारी के बाद भाजपा ऐसे प्रत्याशी की तलाश में जुट गई है जो चुनावी मैदान में पैलेस के प्रभाव को कम कर सकें। भाजपा की इस सीट का लेकर गंभीरता इसी से समझी जा सकती है कि संभागीय संगठन मंत्री दिनेश शर्मा, प्रभारी पुष्पेंद्र प्रताप सिंह ने यहां दौरा