पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • एक दर्जन दुकानों सहित मकान, मंदिर पर चली जेसीबी

एक दर्जन दुकानों सहित मकान, मंदिर पर चली जेसीबी

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहरमें गुरुवार को नगरीय निकाय चुनाव की आचार संहिता के बीच अतिक्रमण हटाने की बड़ी कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई में करीब एक दर्जन दुकान, मकान सहित मंदिर को जेसीबी मशीन से धराशायी कर दिया गया। पुलिस बल की मौजूदगी में हुई इस कार्रवाई के दौरान प्रशासनिक अमले को लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ा, इसके बाद भी प्रशासन ने बलपूर्वक सख्ती से अतिक्रमण ढहा दिए।

शहर के मागंज वार्ड नंवर 5 में गुरुवार को सड़क किनारे फैले अतिक्रमण को हटाया गया। तहसीलदार मनोज श्रीवास्तव सहित एमपीआरडीसी के अधिकारी एवं पुलिस बल की संयुक्त टीम गुरूवार की सुबह 11 बजे जेसीबी लेकर मागंज वार्ड पंहुची और अतिक्रमण हटाना शुरू कर दिया। इस दौरान पथरिया फाटक से लेकर धुवा तालाब तक सड़क किनारे बनी दर्जनों दुकानों सहित मंदिर एवं मकान तोडे़ गए। अतिक्रमण हटाने की मुहिम पथरिया फाटक ब्रिज के नीचे से शुरू हुई। यहां पर रखी गुमटियों दर्जनभर दुकानों को तोड़ा गया। यहां जैसे ही जेसीबी ने दुकानें तोडऩा शुरू किया तो लाेग जमा हो गए और अपनी दुकानों-मकानों का सामान हटाने में जुट गए। इसके बाद अतिक्रमण विरोधी दल आगे बड़ा और सड़क किनारे बने मकानों की बाउंड्री तोड़ी। इस दौरान कुछ लोगो ने विरोध भी किया लेकिन प्रशासन की सख्ती के सामने किसी की नहीं चली। अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई सुबह 11 बजे से शुरू होकर शाम 4 बजे तक चलती रही।

गौरतलब है कि ब्रिज से लेकर पथरिया तक टू लाइन रोड बनाया जा रहा है। चूंकि सड़क के दोनों तरफ अतिक्रमण हाेने से एमपीआरडीसी के अधिकारियों एवं ठेकेदार को सड़क बनाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। सबसे ज्यादा अतिक्रमण ब्रिज से लेकर सेन रेल्वे फाटक तक फैला था। वार्ड के लोगों ने सड़क किनारे चाय-पान, किराना दुकान के दर्जनों टपरे रखकर रहवासी मकान बना लिए थे। वहीं कुछ लोगों ने नाली के ऊपर भी कब्जा कर बाउंड्री बना ली थी। जिससे सड़क बहुत सकरी हाेने से नियमानुसार रोड बनाने में एमपीआरडीसी को परेशानी हो रही थी। वहीं कुछ लोग अतिक्रमण नहीं हटा रहे थे। इस कारण सड़क का काम बीच में ही रुक गया था। इस बारे में ठेकेदार सहित एमपीआरडीसी के अधिकारी ने कलेक्टर से अतिक्रमण हटवाने की मांग की थी जिस पर गुरुवार को अतिक्रमण हटाया गया।

पानीका उठाया मुद्दा : वार्डके दिनेश पाराशर, परवीन वानो, राकेश यादव, फिरोज खान सहित कई लोगों ने दुकान-मका