पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • गुरुद्वारा में प्रकाशोत्सव का समापन

गुरुद्वारा में प्रकाशोत्सव का समापन

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
श्री-गुरुनानकजयंती के अवसर पर गुरुवार को मोरगंज गल्लामंडी स्थित गुरुद्वारा में विभिन्न कार्यक्रम किए गए। अटूट लंगर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सिक्ख समाज एवं सिंधी समाज के साथ-साथ बाल्मीक एवं अन्य सभी धर्मप्रेमियों द्वारा श्री गुरू सिंघ सभा के प्रबंध में गुरुद्वारा मोरगंज गल्लामंडी में उत्साह से जयंती मनाई गई।

श्री गुरूनानक देवजी के प्रकाश पर्व पर 24 अक्टूबर से सुबह प्रभात फेरियों के साथ ही विभिन्न आयोजन किए गए। जिसमें 2 नवंबर को निशान साहिब की सेवा, 3 नवंबर को भव्य शोभा यात्रा के बाद 4 एवं 5 नवंबर को बच्चों के कार्यक्रमों के बाद 6 नवंबर मुख्य कार्यक्रम आयोजित किया गया। गुरुवार को श्री अखंड पाठ साहिब की समाप्ति के बाद सुबह 10.30 बजे से रागी जत्था भाई साहिब बलवीर सिंघ जी ऊना वाले एवं उनके साथियों द्वारा रबाणी कीर्तन की प्रस्तुति की गई। कार्यक्रम में श्री गुरूनानक स्कूल में गुरूनानक साहिब के प्रकाश पर्व पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों की प्रस्तुति के बाद गुरुद्वारा प्रबंध समिति के उपप्रधान सरदार परमजीत सिंघ आनंद, सरदार बलबीर सिंघ सलूजा एवं सरदार बलवंत सिंघ खंडूजा द्वारा भी उन्हें सम्मानित किया गया। इस अवसर पर गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान सरदार दविंदर सिंघ कैप्टन वाधवा ने नवजागृति स्कूल से 12वी कक्षा में उच्च अंक प्राप्त करने वाली छात्रा नवनीत कौर बल को सम्मानित किया। स्वर्गीय हरजीत कौर कंधारी की स्मृति में श्री गुरूनानक सीनियर सेकेंडरी स्कूल के कर्मठ टीचर का सम्मान स्कूल की शिक्षिका रजनी तारे को प्रदान को दिया गया। कार्यक्रम में शहर के गणमान्य नागरिकों ने उपस्थित होकर गुरुग्रंथ साहिब को मत्था टेक कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। गुरुद्वारा में आयोजित मुख्य समागम में मप्र शासन के वित मंत्री जयंत मलैया भी विशेष रूप से उपस्थित हुए और माथा टेक कर गुरू आशीष प्राप्त किया। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष कैप्टन वाधवा ने मंत्री मलैया को सम्मान चिन्ह एवं शाल भेंट कर सम्मानित किया। कार्यक्रम के दौरान दमोह सांसद प्रहलाद पटेल भी गुरुद्वारा पहुंचे। कार्यक्रम का संचालन सरदार गुरदर्शन सिंघ एवं सचिव अमरजीत सिंघ छाबड़ा ने किया। प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में रात्रि के दीवान में भाई बलवीर सिंघ जी एवं साथियों के जत्थे