पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 7 साल पुरानी टंकी से सप्लाई की तैयारी शुरू, शासन ने किया 50 लाख रु.का प्रोजेक्ट पास

7 साल पुरानी टंकी से सप्लाई की तैयारी शुरू, शासन ने किया 50 लाख रु.का प्रोजेक्ट पास

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जबलपुर रोड पर पॉलिटेक्निक कॉलेज के पास स्थित सात साल पुरानी पानी की टंकी से पेयजल की सप्लाई की जोर-शोर से तैयारी की जा रही है। टंकी से सड़क के दूसरे हिस्से में यह पानी की सप्लाई की जाएगी। लोगों को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए पीएचई विभाग ने यह खांका तैयार किया है। विभाग द्वारा शासन को भेजा गया जल सप्लाई का प्रोजेक्ट स्वीकृत कर लिया गया है।

50 लाख रुपए की लागत का जल सप्लाई प्रोजेक्ट पास हो गया है। जिसके बाद अब इस प्रोजेक्ट की भोपाल में ही विभागीय टैंडर प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। प्रोजेक्ट को पीएचई अधिकारियों द्वारा आगामी जून माह तक पूरा करने की तैयारी है। जिससे शहर के करीब आधा दर्जन वार्डों और ग्राम पंचायत आम चौपरा क्षेत्र के लोगों को पाइप लाइन के सहारे पीेने के पानी की सुविधा मिलेगी। वहीं टंकी के नीचे लगाए जाने वाले एक दर्जन नलों से भी लोगों को सुबह और शाम को पीने के पानी की व्यवस्था रहेगी। जिससे गर्मी के सीजन में लोगों को पेयजल संकट से काफी स्तर पर निजात मिलेगी।

दरअसल जबलपुर नाका-दमोह रोड पर पीएचई विभाग द्वारा वर्ष 2010-11 में पॉलिटेक्निक कॉलेज के सामने पानी की टंकी का निर्माण कराया था। जिसकी लागत करीब 10 लाख रुपए थी। टंकी की क्षमता 160 केएल है। विभाग ने पानी की टंकी से सड़क के दूसरी ओर स्थित आम चौपरा क्षेत्र में पाइप लाइन बिछाकर टंकी से पीने के पानी की सप्लाई का प्रोजेक्ट बनाया था। जिसकी स्वीकृति के लिए प्रोजेक्ट फाइल भोपाल भेजी गई थी, वर्ष 2017-18 के मई माह के पहले सप्ताह में ही शासन स्तर पर 50 लाख रुपए से जल सप्लाई प्रोजेक्ट को हरी झंडी दे दी गई है। जिसकी पीएचई विभाग स्तर पर टैंडर प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। प्राेजेक्ट के तहत पानी की टंकी से ग्राम पंचायत आम चौपरा क्षेत्र और शहर के आधा दर्जन वार्डों में तीन किमी तक पाइप लाइन का विस्तार किया जाएगा। जमीन के अंदर पाइप लाइन बिछाई जाएगी। यह पाइप लाइन चार और तीन इंच की व्यास मोटाई से बिछेगी। टैंडर प्रक्रिया पूरे होते ही ठेकेदार द्वारा जून माह के अंतिम सप्ताह तक प्रोजेक्ट को पूरा किया जाएगा।

घरों में नलों से मिलेगा लोगों को पानी: पीएचई एसडीओ टीएल मेहरा ने बताया कि शासन ने 50 लाख रुपए कीमत का जो प्रोजेक्ट स्वीकृत किया है, उसमें आम चौपरा क्षेत्र में करीब 3 से साढ़े तीन किलोमीटर तक पाइप लाइन बिछाई जाना है। वहीं पानी की टंकी के नीचे ही 14 से 15 नल लगाए जाएंगे, ताकि यहां रहने वाले लोगों को गर्मी सीजन में पेयजल संकट से न जूझना पड़े। पूरे प्रोजेक्ट के तहत टैंडर प्रक्रिया होते ही लोगों को जून के अंतिम सप्ताह तक प्रोजेक्ट पूरा कर पीने के पानी की सप्लाई शुरू किए जाने की तैयारी है। टंकी में पानी का भराव शहर की मेन पाइप लाइन से जोड़कर किया जाएगा। ताकि लोगों को उनके घरों में नलों से ही पीने का पानी समय पर मिल सके।

दमोह। पालीटेक्निक कॉलेज में बनी पानी की टंकी में सालों बाद पानी भरा गया है।

सप्लाई से काफी स्तर पर कम होगी समस्या: आम चौपरा मोहल्ला निवासी अमित पटेल और विक्की रैकवार ने बताया कि उनके क्षेत्र सहित आसपास के क्षेत्र में पीने के पानी का गंभीर संकट है। लेकिन यदि आम चौपरा में पाइप लाइन बिछाई जाती है और शाेपीस बनी टंकी से पीने का पानी सप्लाई किया जाता है, तो बड़ी आबादी की पानी की समस्या काफी स्तर पर हल हो जाएगी। लोगों को पेयजल व्यवस्था के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। लोगों को पानी की एक-एक बूंद के लिए अभी भटकना पड़ रहा है। आम चौपरा क्षेत्र में अभी एक पानी के टैंकर से ही पानी सप्लाई किया जा रहा है। जो लोगों के लिए नाकाफी है।

जल्द पूरा करेंगे प्रोजेक्ट
प्रोजेक्ट को पूरा करने की पूरी तैयारी कर ली गई है। लोगों को पीने के पानी की सुविधा सरलता से मिल सके, इससे इस प्रोजेक्ट पर काम जल्दी ही पूरा किया जाना है। टैंडर लगते ही ठेकेदार के माध्यम से कार्य काे जून माह के अंतिम सप्ताह तक पूरा कर लिया जाएगा। केएस पवार, पीएचई

प्रोजेक्ट की लागत - 50 लाख

वर्तमान में लगे हैंडपंप की संख्या - 40

चालू हालत में हैंडपंप - 6

बंद और सूखे हैंडपंपों की संख्या - 34

आम चौपरा क्षेत्र की आबादी - लगभग 20 हजार

इन क्षेत्रों को मिलेगा लाभ - जबलपुर नाका, आम चौपरा, वैशाली नगर, श्रीवास्तव कॉलोनी, प्रेम नगर।

फैक्ट फाइल
खबरें और भी हैं...