पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • महंगे कपड़े जूतों ने खोला राज, ससुराल से पकड़ाया

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महंगे कपड़े-जूतों ने खोला राज, ससुराल से पकड़ाया

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ड्राइवर की हत्या कर क्लीनर जयपुर में करने लगा था मजदूरी
पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपी। लाल शर्ट में चोर नंदु आदीवासी। सफेद शर्ट में हत्या का आरोपी मनोहर विश्वकर्मा।

भास्कर संवाददाता | सागर

महंगे जूते और जींस-टी-शर्ट पहनकर जब वो अपनी ससुराल में घूमता। सभी की आंखे खुली रह जाती। चर्चा होती कि कल तक जो युवक फटेहाल घूमता था। वो अचानक रईस कैसे हो गया। चर्चा गांव तक नहीं रुकी। पुलिस तक पहुंच गई। मुखबिर सक्रिय किए गए तो पता चला कि ये युवक तो शातिर चोर नंदू आदिवासी है। जाे पहले भी कई चोरियों में शामिल रहा है। सुरखी पुलिस ने नंदू को दबोचा तो उसने अपने बाकी साथियों के नाम भी उगल दिए। सोमवार को मीडिया से चर्चा में एसपी सचिनकुमार अतुलकर और एडिशनल एसपी पंकज पांडे ने इस केस के बारे में जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने हत्या के एक अन्य मामले में आरोपी के गिरफ्तार होने की भी जानकारी दी।

कई-कई दिन रेकी करने के बाद करते थे चोरी : एसडीओपी पंकज दीक्षित के अनुसार नंदू आदिवासी मूलत: गांव मुहासा थाना सुरखी का रहने वाला है। लेकिन उसे केसली थाना क्षेत्र के डोगरिया गांव स्थित ससुराल से गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में नंदू ने बताया कि, मैंने अपने साथी अरविंद पिता हल्के भोई उम्र 25 साल गांव अटारी खैजरा जिला विदिशा, हमीरसिंह व दो अन्य के साथ मिलकर सुरखी थाना क्षेत्र में दो चोरियां की थी। पहली चोरी 21 जुलाई की रात को गांव महुआखेड़ा नाहर में साहबसिंह पिता गोरेलाल घोषी के घर पर की थी। जहां से हम लोगों ने नकदी समेत सोने-चांदी के जेवरात चुराए थे। अगली चोरी 10 अगस्त की रात को मुहासा गांव में उत्तमसिंह ठाकुर के घर पर की थी। इन दोनों चोरियों में हमें करीब 5 लाख रुपए के जेवरात मिले।

काकागंज निवासी

पति-प|ी से बरामद

हुआ चोरी का माल
मामले की जांच में अहम भूमिका निभाने वाले बिलहरा पुलिस चौकी के प्रभारी एसआई अजय अंबे के अनुसार इन बदमाशों से पकड़े जाने के भय से चोरी का कुछ माल काकागंज सागर निवासी रामदयाल अहिरवार व उसकी प|ी सुखरानी अहिरवार के घर में छिपा दिया था। जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया। इस माल की कीमत करीब 1.50 लाख रुपए है। अहिरवार दंपती को इस मामले में चोरी का माल खरीदने का आरोपी बनाया गया है। एसआई अंबे के अनुसार चोरी का बाकी माल एक अन्य आरोपी हम्मीरसिंह के पास है। पुलिस की टीम उसकी सघनता से तलाश कर रही है। चोरी के इस मामले के खुलासे में सुरखी थाना प्रभारी अनिल मरावी, हेड कांस्टेबिल अभिषेक, कांस्टेबिल काशीराम व राममूर्ति की विशेष भूमिका रही।

सागर | साथी ट्रक ड्राइवर की हत्या कर दो साल पहले फरार हुए एक आरोपी क्लीनर को दमोह देहात की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 5 हजार रुपए के इस इनामी आरोपी को चंपत पिपरिया गांव थाना दमोह देहात स्थित उसके घर से पकड़ा गया। फरारी के दौरान ये आरोपी जयपुर राजस्थान में मजदूरी करने लगा। इसी बीच वह रक्षा बंधन के मौके पर अपने घर आया तो पुलिस ने उसे धर-दबोचा। प्रेस से चर्चा में एसपी सचिनकुमार अतुलकर ने बताया कि 18 जून 2014 को ट्रक ड्राइवर मनोज उर्फ मंजू दुबे निवासी अभाना की हत्या हो गई थी। उसे किसी ने ट्रक में उपयोग होने वाली टामी से मारा था। ड्राइवर के परिजनों ने क्लीनर मनोहर विश्वकर्मा उम्र 30 साल निवासी दमोह पर संदेह जताया। पुलिस उसके गिरफ्तार करती। इसके पहले ही वह फरार हो गया।

बार-बार बेइज्जत करने से चिढ़कर कर दी थी हत्या : एडिशनल एसपी पंकज पांडे के अनुसार पूछताछ में आरोपी मनोहर ने ड्राइवर मंजू की हत्या करना कुबूल कर लिया है। उसने बताया कि मुझे मंजू बात-बात पर बेइज्जत करता था। नौकरी जाने के डर से मैं उसे टोक नहीं पाता था। घटना वाले दिन भी मेरी उससे काम को लेकर बहस हुई। जिसके बाद मैंने तैश में आकर उसके सिर में टामी मार दी।

पुलिस द्वारा पकड़े जाने के डर से मैं मौके से फरार हो गया। कुछ दिन यहां-वहां भटकने के बाद जयपुर में मजदूरी करने लगा। एडिशनल एसपी के अनुसार आरोपी पर 5 हजार रुपए का इनाम था। इस गिरफ्तारी में दमाेह देहात की पुलिस व मुखबिर तंत्र की विशेष भूमिका रही।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों में आपकी व्यस्तता बनी रहेगी। किसी प्रिय व्यक्ति की मदद से आपका कोई रुका हुआ काम भी बन सकता है। बच्चों की शिक्षा व कैरियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी संपन...

    और पढ़ें